नौकरानी की जवानी की खुशबू

हैल्लो दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम कपिल है और आज मैं आप सबको अपनी एक हिन्दी सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ जो की अभी कुछ समय पहले की है दोस्तों मेरी उम्र 24 की साल है और मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है जिसको हर किसी टाइट चूत का इंतज़ार रहता है और चोदने के लिए हमेशा बेकरार रहता है।

दोस्तों मेरे घर पर एक नौकरानी है जो घर का काम करती है मेरे घर पर मैं और मम्मी ही रहते है और पापा अपने काम के सिलसिले में बाहर ही रहते है मेरे घर पर जो नौकरानी है उसका नाम मीनल है और उसकी उम्र 20 साल की है और वो बहुत ही सुंदर हुस्न की मालकिन है उसको देख देखकर मेरा उसे चोदने का मन करता है और वो दिखने में बहुत ही सुंदर है और उसके बब्स बाहर की तरफ एकदम खड़े हुए बहुत ही मस्त लगते है और उसकी चिकनी गांड पीछे से बाहर की तरफ निकली हुई है जो की उसके मटकने से वो मटकती है और मेरे लंड को अपना दीवाना बना लेती है। मेरी नौकरानी सच में क्या आइटम है यह तो आपको मानना ही पड़ेगा और मैं भी उसके नाम की कई बार मूठ मार चुका हूँ क्योकि मम्मी के होते हुए मैं उसके साथ कुछ नहीं कर पाता था और बस उसकी चूत के लिए तरसता रहता हूँ पर सच में एक दिन भगवान ने मेरी सुन ही ली और पापा ने मम्मी को भी अपने यहाँ बुला लिया और फिर तो मैंने ठान ही लिया की उसको चोदकर ही रहना है अब, दोस्तों उसको चोदने का खुमार तो पहले से ही चढ़ा हुआ था बस मौके का इंतजार था। मम्मी के जाने के बाद मीनल घर का काम करने लग गई और मैं बाथरूम में जाकर नंगा हो गया और वहां अपना 7 इंच लम्बा लंड निकालकर सीधा बाहर के कमरे में आ गया और मीनल को आवाज़ लगाई तो वो जैसे ही आई तो मुझे एक टक देखती ही रह गई क्योकि मैं उसके सामने नंगा था और उसकी नज़र सीधे मेरे लंड पर जा गिरी और उसे देखकर मुस्कुराकर किचन में चली गई मैं भी उसके पीछे पीछे लंड को हिलाता हुआ वही पर चला गया और बोला यह तुम्हारे लिए है, डिअर कबसे तरस रहा हूँ।

मीनल :– इतनी देर क्यों लगा दी।

मैं अब समझ गया की उसे भी कोई प्राब्लम नहीं है इसलिए मैंने उसके होंठो को अपने होंठो में भर लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गया जिससे वो भी पागल हो गई और बोली साहब मैं तो कबसे इंतज़ार कर रही थी अब मैंने मीनल को अपनी गोद में उठाया और उसे बिस्तर पर ले जाकर उसकी साड़ी को उसके जिस्म से अलग कर दिया और जैसे ही उसके जिस्म से कपड़े अलग हुए तो उसका चिकना शरीर मेरे सामने आ गया और मैंने उसके गोल-गोल बब्स को देखते ही उसके बब्स को दबाने लग गया और अपने हाथ को उसकी चूत पर रखकर उसकी चूत के दाने पर ऊँगली रगड़ने लग गया जिससे वो आअहह… आअहह… की सिसकारियां भरने लग गई और मैं अब उसके बब्स के निप्पल को मुहँ में लेकर चूसने लग गया जिससे वो पागल होती चली गई और मुझे अपनी बाहों में भरती चली गई अब मैंने उसकी चिकनी चूत पर से हाथ हटाया और उसकी टांगो को खोलकर उसके बीच में आकर अपना मुहँ उसकी गौरी चूत पर रख दिया और उसको अपनी जीभ से चाटने लग गया और साथ ही साथ उसके बब्स भी दबाने लग गया जिससे वो बस उउहह… आअहह… की आवाजें निकालने लग गई और फिर मैंने उसकी चूत को चूसते हुए और अंदर अपनी जीभ को डाल दिया और अपनी जीभ से उसकी चूत को मारने लग गया और इसी बीच करीब 7 मिनट बाद ही उसकी चूत का पानी निकल गया जिसको मैंने चाट-चाटकर पी लिया अब मीनल मेरे 7 इंच लम्बे लंड को अपने हाथ में पकड़कर आगे पीछे करने लगी फिर मैंने अपने लंड को उसके मुहँ में डाल दिया और वह भी बड़े ही मजे के साथ उसको अपनी जीभ से चूसने और चाटने लग गई जिससे मेरा लंड और भी खड़ा हो गया और अब मेरे लंड से रुका भी नहीं जा रहा था इसलिए मैंने उसके मुहँ से लंड निकाला और उसकी गांड के नीचे तकिया रखकर उसकी चूत पर थूक लगाने लग गया मैंने उसकी चूत को जैसे ही देखा था तो मैं समझ गया था की चूत बहुत टाइट है यानी की चूत की सील अभी तक टूटी भी नहीं है और आज यह सील मेरे 7 इंच लंबे लंड से टूटेगी। दोस्तों यह कहानी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

मैं :– मीनल तुम्हारी चूत में पहले काफ़ी दर्द होगा तो सहन कर लेना प्लीज फिर देखना मज़े ही मज़े है।

मीनल :– ठीक है डालो मैं भी इंतज़ार ही कर रही हूँ।

मैंने लंड का धक्का धीरे से उसकी चूत पर लगाया तो लंड बिल्कुल हल्का सा अंदर गया जिससे वो थोड़ी चींख पड़ी पर मैंने परवाह ना करते हुए और थोड़ा धक्का लगाया तो वो और ज़ोर से चिल्लाई और फिर मैंने सील तोड़ने के लिए उसके कंधो को ज़ोर से पकड़ लिया और एकदम उसकी चूत की झिल्ली को तोड़ते हुए अपना 4 इंच लम्बा लंड उसकी चूत के अंदर उतार दिया जिससे वो रोने लग गई इसलिए मैं 10 मिनट तक रुक गया और फिर मैंने उसकी चूत में धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू कर दिये जिससे खून के साथ साथ पानी भी निकलने लग गया मैं अब फिर 5 मिनट और रुक गया और फिर उसकी चूत पर अपने लंड को पूरा अंदर डालकर चोदने लग गया और चोदता ही चला गया जिससे वो एक बार और झड़ गई अब आप सोच रहे होंगे की मेरा क्यों नहीं निकल रहा क्योकि मैंने बाथरूम में लंड का पानी देर से निकालने के लिए गोली खा ली थी जिसका असर अब हो रहा था।

अब मैंने उसको बिस्तर से उठाया और उसे दीवार के साहरे खड़ाकर के उसकी चूत में फिर से लंड डाल दिया जिससे अब उसको भी मज़ा आने लग गया और वो भी मेरे साथ आअहह… आअहह… करती हुई मज़े लेने लग गई और मैं उसके बब्स चूस चूसकर उसे और गरम करने लग गया और धीरे धीरे उसकी चूत में फिर से झटके देने लगा जिससे वो फिर से झड़ गई और फिर मैंने उसको घोड़ी की तरह बेड पर लेटाकर उस पर चढ़ गया और उसकी चूत का पानी निकालकर अबकी बार अपना पानी भी उसमें निकाल दिया और फिर हम दोनों बाथरूम में चले गये और मैंने उसे एक बार और बाथरूम में शावर के नीचे चोद डाला।

तो दोस्तों, कैसी लगी एक ही समय पर अलग अलग पोज़ में 4 बार चुदाई करके पानी निकाला और अपना सिर्फ़ एक बार।

धन्यवाद कामलीला डॉट कॉम के प्यारे पाठकों !!