खाला की चूत को अपने लंड का दीदार

हाय फ्रेंड्स, Antarvasna मेरा नाम सलीम है और मैं कामलीला डॉट का बहुत बड़ा फैन हूँ, मैंने अब तक की इसकी सारी सेक्स कहानियां पढ़ी है और आज जो कहानी आपको लोगों को मैं बताने जा रहा हूँ यह कहानी मेरी खाला मौसी के बीच हुई चुदाई की है दोस्तों मेरी उम्र 27 साल है और मैं पिछले 3 साल से सरकारी नौकरी कर रहा हूँ. मैं बहुत सेक्सी लड़का हूँ और मैं हमेशा किसी आंटी, भाभियाँ और लडकियों को चोदने के चक्कर में रहता हूँ।

दोस्तों मेरी एक खाला मौसी है जिनकी उम्र लगभग 38 साल है. उनका नाम फरहीन बेगम है. जब वो 25 साल की थी तब उनकी शादी हो चुकी थी, वो एक अस्पताल में नर्सिंग असिस्टेंट के रूप में ड्यूटी करती थी जो मेरे खालू को पसंद नहीं आई. जिस वजह से शादी के 3 साल बाद उनका तलाक़ हो गया तब से मेरी खाला अलग ही रहती है। और उसे एक लड़की रूबी है. आज वो पूरी जवान हो गयी है। मेरी खाला ज़्यादा ना चुदने की वजह से उम्र में ज़्यादा बड़ी नहीं लगती थी. मेरी खाला की हाईट करीब 5 फुट 7 इंच है और उनकी बब्स एकदम गोल मटोल संतरे के जैसे है, वो दिखने में बहुत खूबसूरत है. मैं जैसे-जैसे बड़ा होता गया मुझे खाला की जवानी अच्छी लगने लगी. मेरी खाला अपने मायके में रहती थी. जहाँ उनके साथ मेरी नानी और उनकी बेटी रहती थी. मैं जब भी अपनी नानी के घर जाता था तो खाला को सेक्सी नजरो से देखता रहता था. मैं बाथरूम में खाला की रखी हुई पेंटी और ब्रा को सूंघकर मूठ मार लेता था. मेरा लंड भी मूठ मारने से कुछ बड़ा हो गया था।

मुझे वह अपने बच्चे की तरह मानती थी, तो हुआ कुछ यू की जब नानी अपने मायके गई तो उस वक्त मैं भी छुट्टी पर था, खाला बोली हम दोनों को अकेले इधर डर लगेगा. तो रात को तू आ जाना. मैं अम्मी से पूछकर नानी के घर पर चला गया. मैं जीन्स पहनकर ही चला गया था और नाइट ड्रेस ले जाना भूल गया था. फिर हमने खाना खाया और सोने की तैयारी करने लगे तभी मैंने सोचा की आज खाला की चूत को चोदने का बड़ा अच्छा मौका है. मुझे लगा की खाला भी तो लंड की प्यासी है. पता नहीं खाला को लंड लिए कितने साल हो गये है, मैंने कहा मुझे जीन्स में नींद नहीं आती और मैं नाइट ड्रेस नहीं लाया हूँ. उस वक्त गर्मी का मौसम था तो खाला बोली अब मैं भी क्या बताऊ? मेरे पास भी तुझे देने के लिए कुछ भी नहीं है. इतने में खाला की बेटी रूबी बोली भाई मेरी केप्री पहन लो. तो खाला बोली हाँ यह सही है. रूबी ने मुझे अपनी केप्री लाकर दे दी, मैं खुश हुआ की आज रूबी की चूत की खुश्बू तो मिल जाएगी. मैं अंदर कमरे में गया, मैंने उसकी केप्री सूंघकर पहन ली और बाहर आ गया. जैसे ही मैं चारपाई पर बैठा केप्री मुझे टाइट होने की वजह से फट गयी. खाला हँसकर बोली तू अंडरवियर में ही सो जा. वैसे भी हमसे क्या शरमाना? रात के 9 बजे तक हम बातें करते रहे, फिर सो गये। खाला भी मैक्सी पहनकर सो गयी, मैं अंडरवियर और बनियान में सो गया. अब मैं तो खाला की चूत के चक्कर में था. तो मैंने सोचा अगर खाला जागे तो मैं उसको अपने लंड के दीदार करा दूँ. मैंने अपने लंड को मसलकर ऊपर की तरफ किया और तोड़ा सा चड्डी को बाहर निकालकर सोने का नाटक करने लगा।

मैं खाला की तरफ देखने लगा जो मेरी तरफ पीठ करके सोई हुई थी. फिर अचानक किस्मत खुल गयी. क्या हुआ की करीब 11 बजे मैं मोबाइल में सेक्स स्टोरी पढ़ रहा था. खाला पेशाब करने को उठी और बाथरूम में पेशाब करके आई और जैसे ही मेरे पास से गुज़री तो मेरे फ़ोन में उनको लाइट दिखी. मैं आँखे बंद कर के लेटा रहा. फिर उन्होंने मेरा फ़ोन उठाया, खाला मेरा फ़ोन अपने पास ले गयी और वो कहानी पढ़ रही थी और अपने हाथ को मैक्सी के ऊपर से ही अपनी चूत पर रगड़ने लगी. फिर थोड़ी देर के बाद वह मेरे करीब आई और उन्होंने जैसे ही फ़ोन रखा. उनकी नज़र मेरे लंड पर टिक गयी. उनको लगा की मैं सो गया हूँ। तो उन्होंने मेरी चड्डी को खिसकाया और लंड को देखने लगी. इतने मैं मैंने हिम्मत करके उनका हाथ पकड़ लिया तो वो एकडम डर गयी. बस फिर क्या था? मैंने कहा आप मेरी खाला होकर मेरे साथ यह सब कर रही हो. आप को शरम नहीं आती? तो बोली बेटा देख तू मुझे मत सीखा, तू फ़ोन में क्या पढ़ रहा था? मैंने सब देखा है. मैंने कहा की मैं तो सिर्फ़ फ़ोन में पढ़ रहा था ना? आप के साथ तो कुछ नहीं किया ना? तो वो कुछ नहीं बोली. मैंने खाला को अपने ऊपर खींच लिया और उनके होठों को चूसने लगा, खाला मुझसे छुटने की कोशिश करने लगी।

मैंने कहा आज तो खाला तुझे चोदकर ही मानूँगा. वो रोने लगी बोली बेटा ऐसा नहीं करते. मैंने कहा खाला आप भी तो कई सालो से प्यासी हो. बोली हट बेशर्म. अपनी खाला से ऐसी बात करता है? मैंने कहा अच्छा खाला. आप मेरे लंड से खेल रही हो और मैं कुछ ना करू? बस इतना कहकर मैंने उन्हें अपने नीचे कर लिया. मैं खुद उनके ऊपर चढ़ गया और उनके बब्स को दबाने लगा. खाला खुद को मुझसे छुड़ाने लगी. तो मैंने उनकी मैक्सी को ऊपर कर दिया. खाला बैठ गयी मैंने देखा की खाला ने पेंटी नहीं पहनी है. मैंने अपने होंठ उसकी चूत पर लगा दिए. उनकी चूत की खुश्बू से मैं पागल सा हो गया. अब मैं उनकी झाटों के बालो को अपने दांतों से खींचने लगा था. वो बोलने लगी अपनी खाला पर रहम कर. ऐसा मत कर, तुझे पाप लगेगा। लेकिन मैं कहा कुछ सुनने वाला था मैंने खाला को उठाया और दूसरे कमरे में ले गया ताकि रूबी जाग ना जाए. फिर खाला भी थोड़ी ढीली पड़ गयी की आज तो ये मेरी चूत मारके ही दम लेगा. तो क्यो ना मजे से चुद्वाऊ। दोस्तों यह कहानी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

बस मैंने लाइट जलाई और खाला की मैक्सी उतार दी. उनके बब्स एकदम बड़े- बड़े थे जिनमे से गुलाब की तरह भीनी-भीनी खुश्बू आ रही थी. फिर खाला ने कहा की बेटा चुदाई करनी है तो अच्छे से करना ताकि मुझे भी लंड का सुख मिले. अब उन्होंने अपने हाथ खोल दिए, ओह माय गोड. उनके बगल के काले बाल जो पसीने से चिपके हुए थे मुझे भा गये। मैंने अपनी जीभ निकाली और उनकी बगलो को चाटने लगा. फिर मैंने उनकी चूत की फाकों को अपनी उंगलियों से खोला आहह… क्या टाइट चूत थी एकदम रसभरी। फिर मैं उनकी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा. जो की हल्की सी भूरी थी। चूत चाटते ही खाला मचलने लगी और उनकी चूत पानी छोड़ने लगी, खाला बोली बेटा डाल दे अब अपना लंड अब और ना तड़पा. उनके इतना कहते ही मैंने अपना लंड उनकी चूत पर रखा और अंदर घुसेड दिया. खाला आहह… आयी… आयी… ओह… मम्म… मेरी चूत में जलन हो रही है कहने लगी. मैंने झटका मारा तो मेरा लंड खाला ने चूत में ले लिया, अब वो कहने लगी बेटा कर दे ढीली अपनी खाला की चूत को. बहुत दीनों के बाद किसी ने चोदा है. मैं झटके मार रहा था, कुछ मिनट जोरदार उनकी चूत की चुदाई करने के बाद मैं अपने अंतिम पड़ाव में था और मैं झड़ गया और खाला की चूत में ही ढेर हो गया. पर अभी खाला ठंडी नहीं हुई थी, उन्होंने मेरा लंड निकाला और अपने मुहँ में लेकर चूसने लगी। मैंने कहा खाला आप सब ये? तो बोली उस कहानी में वो चूसती है और गांड भी तो मरवाती है।

वो मेरा लंड चूसती रही और मैं फिर से तैयार हो गया. अब मैं उसको डॉगी स्टाइल में करके चोदने लगा, खाला की कामुक सिसकारियाँ निकलने लगी आहह… आयी… ईई… कुछ देर की चुदाई के बाद मैं और खाला साथ में ही झड़ गये, ये धमाल मस्ती रात के 4 बजे तक चली और हम दोनों चुपचाप अपने बिस्तर में जा कर सो गये।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!