सेक्सी पड़ोसन ने लवरस पिया

हैल्लो दोस्तों, मेरा antarvasna नाम राज है और में साउथ दिल्ली का रहने वाला हूँ। आज में आपको मेरा रियल अनुभव बताने जा रहा हूँ, जो मेरे और मेरी सेक्सी पड़ोसन नीता के बारे में है। मेरा नाम राज है, मेरी उम्र 25 साल है, मेरा लंड 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है। अब में आपका ज्यादा समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। में जब 20 साल का था। तब हम फ्लेट में रहा करते थे, में मेरे घर में मेरे मम्मी पापा के साथ रहता था, तब मेरे मम्मी पापा दोनों ही जॉब करते थे। उस टाईम मेरे पड़ोस में एक जवान कपल रहने के लिए आया था। अब स्थिती इस तरह थी कि मेरा घर और उसका घर आमने सामने था, तो ज़ाहिर सी बात है कि मेरे घर की सारी चीज उन्हें दिखती और उनके घर की सारी चीज़े हमें दिखती थी, जब दरवाजा खुला होता था।

फिर जब मैंने पहली बार मेरी नई पड़ोसन को देखा तो में दंग रह गया, उसका बदन मखमल जैसा था, वो साड़ी पहनती थी। उसके बूब्स उसकी साड़ी के ब्लाउज में से अभी बाहर आ जाने वाले हो इतने बड़े थे। करीब 38 साईज थी और उसके कूल्हें तो मानों जब वो चलती थी तो ऐसे उछलते थे कि मुझसे तो रहा नहीं जा रहा था कि कब उसकी चुदाई करूँ? फिर थोड़े महीनों में मेरी मम्मी और वो अच्छे दोस्त बन गये। फिर एक बार में स्कूल से वापस घर आ रहा था, तो तब मम्मी और नीता दोनों मेरे घर में बैठे थे। तब उनको देखकर में अंदर चला गया, लेकिन मुझे उन लोगों की बातें सुननी थी तो तब मैंने अपने रूम का दरवाजा थोड़ा खुला रखा था। तब मैंने सुना कि वो दोनों अपने पति के सेक्स करने के बारे में बात कर रही थी।

तब नीता बोली कि मेरे पति का तो बहुत छोटा है, मेरे अंदर तक जाता ही नहीं है, इससे मुझे संतुष्टि ही नहीं होती है और वो हफ्ते में एक बार ही करता है और कभी-कभी तो महीनों तक अपने बिजनेस के सिलसिले में बाहर रहता है। यह बात सुनकर में दंग रह गया और अब मेरी उसे चोदने की तमन्ना और बढ़ गई थी। अब उसके लिए में एक मौके की तलाश में था। तब ही थोड़े दिनों के बाद मम्मी ने मुझे नीता को कुछ देने के लिए उसके घर भेजा। फिर जब में वहाँ गया, तो तब वो अकेली थी और उसका पति 1 महीने के लिए बाहर गया हुआ था। जब उसने एक पतले कपड़े वाला गाउन पहना था, लेकिन उसने ब्रा नहीं पहनी थी इसलिए उसकी बड़ी सी निपल तनी हुई गाउन में से साफ दिख रही थी। अब यह देखकर मेरा लंड सावधान की पोज़िशन की तरह तन गया था, क्योंकि मैंने इतने पास से किसी के बूब्स नहीं देखे थे। फिर नीता की नजर मेरी नजर एक हुई। अब में उसके निपल को देख रहा हूँ, तो यह देखकर उसने अपने होंठ नशीली तरह से अपने दातों से दबोच लिए।

फिर में उनको मम्मी ने जो देने को कहा, वो देकर निकल गया, लेकिन मेरी उसको चोदने की इच्छा और बढ़ गई थी। फिर एक दिन वो मेरे घर पर आई। तब मम्मी और पापा दोनों जॉब गये थे और में अपने कंप्यूटर पर ब्लू फिल्म देख रहा था। अब में घर का दरवाज़ बंद करना भूल गया था, क्योंकि मम्मी पापा अभी गये थे। तो तब वो सीधी ही अंदर चली आई और उसने देख लिया कि में एडल्ट मूवी देख रहा हूँ। फिर जब मैंने उसे नोटिस किया, तो तब तक उसने भी थोड़ी फिल्म देख ली थी। तो तब मैंने जल्दी से वो बंद कर दी। तब मैंने पूछा कि आपको कुछ काम था क्या? तो तब उसने कहा कि में अकेली बोर हो रही थी, तो तुम्हारी मम्मी से मिलने आई थी। तब मैंने कहा कि मम्मी तो चली गई है अगर आपको टाईम पास करना है तो मेरे साथ बातें कीजिए। तब वो मेरे पास आकर बैठ गई, तब उसने काले कलर की साड़ी पहनी हुई थी, वो उसमें बहुत सेक्सी दिख रही थी।

फिर उसने मुझसे पूछा कि तुम क्या देख रहे थे? तो तब में थोड़ा शर्माकर बोला कि तो आपने देख लिया? तो तब उसने कहा कि मुझे भी देखना है। तो ये सुनकर में दंग रह गया और अब मैंने सोच लिया था कि आज तो इसे चोदकर ही रहूँगा, तो तब मैंने फिर से मूवी लगाई। अब वो देखते ही देखते हॉट होने लगी थी और फिर उसने मुझसे पूछा कि तुमने ऐसा कभी किया है? तो तब (मन में बोला कि आज करूँगा) में बोला कि नहीं, लेकिन करना चाहता हूँ। तब वो हंस पड़ी और मुझे होंठो पर किस करने लगी थी। अब में भी थोड़ी देर के बाद उसका साथ देने लगा था। अब वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से मुझे किस करने लगी थी और मेरी जीभ को चूसने लगी थी। अब में तैयार हो गया था और फिर मैंने भी मेरे एक हाथ से उसकी साड़ी के ऊपर से उसके बूब्स दबाने शुरू किए। अब वो भी मेरे लंड को पकड़कर मसलने लगी थी। तो तब मैंने उसके ब्लाउज का बटन खोला, तो ब्लेक ब्रा में उसके बूब्स बहुत बड़े-बड़े और खूबसूरत दिख रहे थे। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब में उसके दोनों बूब्स को उसकी ब्रा में से बाहर निकालकर ज़ोर-ज़ोर से अपने दोनों हाथों से दबाने लगा था। अब उसके मुँह से ओह सीईईईई जैसी आवाज़े आने लगी थी और फिर वो बोली कि मेरे राजा आज इसे मसल डालो। फिर उसके बाद मैंने उसके बूब्स को बारी-बारी से चूसना शुरु किया और अब मेरा एक हाथ उसके पेटीकोट के अंदर जाकर उसकी पेंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा था। अब इससे वो बहुत उत्तेजित हो गई थी। फिर हम दोनों ने अपने सारे कपड़े उतार दिए। फिर उसने मेरा लंड देखा तो तब वो बोली कि मेरे राजा तेरा तो बहुत बड़ा है, मुझे इसकी तो तलाश थी और फिर इसके साथ ही उसने लंड चूसना शुरू कर दिया। अब इस वजह से में बहुत गर्म हो गया था, तो तब मैंने कहा कि मेरे इसमें से निकलने वाला है। तब उसने कहा कि आने दो, में इस लवरस को पी जाउंगी और फिर इसके बाद मैंने नीता के मुँह में अपना सारा रस निकाल दिया। तो तब वो बोली कि मेरे राजा अब तुम्हारी बारी।

फिर मैंने अपनी एक उंगली उसकी गुलाबी पंखुड़ी वाली क्लीन शेव चूत में डालकर फिंगर फुक्किंग करना शुरू किया और अब उसके बाद में भी उसकी चूत को आइसक्रीम की तरह चाटने लगा, जिससे वो सिसकारी भर रही थी ओह मेरे राजा, उसे खा जाओ, उसे चूस लो, वाहह मज़ा आ गया। फिर मैंने उसकी चूत को 15 मिनट तक चाटा। उसके बाद उसने भी उसका सारा लावा मेरे मुँह पर छोड़ दिया तो वो में थोड़ा तो निगल गया और थोड़ा उसकी साड़ी से पोछ लिया। फिर उसके बाद में अपना लंड उसकी चूत पर रखकर उसके बूब्स चूसने लगा। तब उसने मेरा लंड पकड़कर उसकी चूत में थोड़ा घुसेड़ दिया और कहा कि मेरे राजा चल अब शुरू हो जा। उसको इतने टाईम से किसी ने चोदा ना होने की वजह से उसकी चूत बहुत टाईट थी। तब मैंने एक बार झटका मारा तो मेरा लंड आधा घुस गया। तब उसके मुँह से चीख निकल गई, लेकिन मेरे दूसरे झटके से मेरा लंड पूरा अंदर चला गया था, क्योंकि उसकी चूत गीली हो गई थी।

फिर मैंने अपने झटको की स्पीड बढ़ाई तो उसके मुँह से ओह चोदो, ज़ोर-ज़ोर से चोद, ओह में मर गई, फाड़ दो मेरी चूत को, आज तुम और ज़ोर और ज़ोर से जैसे शब्द निकलते जा रहे थे। फिर करीब उसे 20 मिनट तक चोदने के बाद मेरा सारा लावा उसकी चूत में चला गया और अब वो भी काफ़ी थक चुकी थी, लेकिन मेरे में अब तक उसकी गांड मारनी की इच्छा बाकी थी तो तब मैंने उससे डॉगी स्टाइल में होने को कहा। तब वो बोली कि मेरे राजा क्या करने का इरादा है? तो तब मैंने कहा कि नीता तेरी गांड बहुत मज़ेदार है, उसका भी थोड़ा मज़ा ले लूँ। तब उसने कहा कि लेकिन कुछ तेल लगा लो। तो तब मैंने खाने का तेल थोड़ा सा अपनी उंगली में लगाकर उसकी गांड में घुसेड़ दी। तो तब उसे थोड़ा दर्द हुआ, लेकिन वो फिर से नॉर्मल थी।

फिर मैंने अपनी और उसकी गांड पर थोड़ा तेल लगाया और एक झटका दिया। तो तब वो ज़ोर से चिल्लाई अरे हाईई में मर गई, आज तो फाड़ दी मेरी गांड को। फिर मैंने थोड़ी देर तक ऐसे ही बिना हीले मेरे लंड को उसकी गांड में रखे रखा और फिर धीरे से मैंने एक और झटका मारा, जिससे मेरा लंड उसकी गांड में अंदर तक चला गया था। अब इस टाईम उसे इतना दर्द नहीं हुआ था। फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई। अब वो भी मज़े लेने लगी थी और बोलने लगी कि और ज़ोर से और ज़ोर से राजा, वाह आज तो मेरे बरसों की प्यास बुझी है, अब तो में तेरे पास ही चुदवाऊंगी। फिर उसकी गांड को 15 मिनट तक मारने के बाद मैंने अपना सारा लावा उसकी गांड में ही छोड़ दिया। अब में और वो दोनों बहुत थक गये थे, तो तब हम दोनों उसी हालत में थोड़ी देर तक मेरे बेड पर सो गये। फिर थोड़े टाईम के बाद वो उठकर मेरे सिर पर किस करके बोली कि मुझे इससे पहले ऐसा सेक्स का आनन्द कभी नहीं मिला। तो तब मैंने कहा कि मेरी रानी में इसके लिए ही तो बैठा हूँ ।।

धन्यवाद …