नहीं जेठ जी शादी नहीं कर सकते

मैने मेरी भाइयों के लिए शादी नहीं किया , उसके कारण बोहुत थे , उन्मन से एक था हम लोगो के मा-बाप सोते मैं ही गुज़र गये , उसके बाद मैने ही मेरे भाइयों को पढ़ाया लिखाया , और साथ ही साथ उनको अच्छे अच्छे जॉब्स भी दिलाए .अब साहब कुछ हो गयेा हैं , मेरे भाइयों ने शादी कर लियाा अपने अपने पसना के , मेरे बहुए बोहुत सुंदर और इंटेलिजेंट थे . साहबकुछ अच्छे से किया कराती थी लेकिन मुझे पता हैं ये लोग ऐसा क्यों कर रही हैं क्यों की , इस घर के और पूरे ज़मीन के मलिक मैं हू . मेरे ही नाम पे साहब ज़मीन जयदाद हैं . मेरे 4 भाई अब विदेश मैं रहते हैं , राज-30 , राजू-27 , राजन-25 , और राजा-23आगे .

मैने एक दिन साहब को बुलाया और कहाँ देखो बहू , मैने मेरे काम कर दिया हैं , लेकिन अब मुझे चिंता होरहा हैं के मेरे बुढ़ापे मुझे कौन देखेगा , मेरे काम कौन करेगा , मैने शादी मेरे भाइयों के लिए नहीं की ,

लेकिन अब लगता हैं मुझे शादी करना पढ़ेगा , मैने अपने अंदर बोहुत सी चीज़े दबके रखे हैं सिर्फ़ भाइयों के ख़ुसी के लिए , लेकिन अब मेरे भाई साहब अच्छे से सत्तले हो गयेा हैं , इसलिए मैने सोचा हैं , मैं अब शादी करूँगा ,
तुम लोग किया कहते हो , इसबारे मैं , तुम लोगो की भाबी अजाएगी तो तुम लोगो की देखवाल भी करेगी . तुम लोग दररो मॅट , प्रॉपर्टी 2 पार्ट करूँगा एक मेरा और 1 तुम चारो को दूँगा …देखो तुमलोग सोचो अच्छा से मुझे किया करना चाहिए . उसके बाद मुझे बोलो . ऑरा क बात मेरे जो बीवी होगी उसकी बात सबको सुन्नी पढ़ेगी क्यों की वो तुम लोगो से बढ़ी होगी , और मैं आज भी वोही जवान लड़का हू जो 20 साल पहले था ..मैने जो कहाँ उसपे ध्यान दो , अब जाओ खाना ख़ाके सोजाओ . सुबह होते ही तुम लोग मुझे बता देना .
बहू ये अपने रूम मैं आते ही उस बात पर बात करने लगे , रानी-28 , रानु -27, रेबा-24 , राधा-22 साल की उमेर की .
रेबा ने कहाँ दीदी अगर जेठ जी ने सच मैं शादी कर लिए तो हम लोगो की आज़ादी पे बन लग जाएगा , अपने देखा कैसे ज़मीन जयदात के बड़े बोले , सिर्फ़ एक हिस्सा हम चारो का .
रानी ने कहाँ हाँ देखा लेकिन हमे ये नहीं होने देना हैं , हमे कुछ ना कुछ तो ज़रूर करना पढ़ेगा , देखते हैं आज मैं सोचूँगी इस बड़े मैं , तुम लोग भी सोचो , शायद कोई हाल निकल जाए , हम ए जेठ जी को शादी करने नहीं देना हैं , क्यों की अगर जेठ जी ने शादी कर लियाा तो हुमलोगो को जेठानी के अंडार काम करना पढ़ेगा , और ज़मीन ज़ायेदत भी , उतना ही मिलेगा , मुझे ये देखना नहीं हैं , इसलिए आजरात सबलॉग सोचो किया करना हैं .
रानु बोली दीदी सोचना किया हैं जेठ जी को देखा हैं अभी भी कितना तगड़ा और जवान दिखते हैं , मेरे पाती को जब पहली बार मैने देखा था तब मैने रो दिया था ये किया लड़का चोज़ किया हैं मेरे मा-बाप ने ना दिखने मैं अच्छा हैं ना करने मैं , रात को तो मेरे पाती मुझे अपने कान खुजने वाला लंड से , चुदाई कराता हैं , मज़ा मुझे आजतक नहीं आया , इसलिए मैने सोचा हैं , जेठ जी शादी की किया ज़रूरात हैं , हम लोग ही जेठ जी की बीवी बन जाएँगे , सोच के देखो , जितना ज़मीन हैं , वो अगर हम चारो को मिलजये तो हम मालामाल होज़ायगे और इस घर मैं राज करेंगे , ऑरा क बात मैने कड़ीं जेठ जी को पिशब करते देखा हैं , किया बताओ बहना , लंड देखते ही मेरे चूत ने पानी सोध दिया , 10 इंच का तो होगा ही , अगर खड़ा होज़ाये तो 12 का तो ज़रूर होगा .
तुम लोग जॉब ही बोलो जिस्दीन जेठ जी मुझे देखने गये थे मुझे उसी दिन वो पसंद आगाए थे , मुझे किया पता था जेठ जी नहीं उनके सोते भाई मुझसे शादी करने आए हैं .
तू किया कहती हैं हैं राधा .
राधा , मैं किया कहूँ आपलोग जो सोचेंगे वोही होगा .
रानी ठीक हैं हम साहब इस बड़े मैं सोचेंगे अब खाना ख़ाके साहब सोजाओ …

सुबह होते ही साहब बीवियाँ अपने अपने काम मैं जुट गयी,
नास्था बनाया रेबा ने , राधा ने किया घर का काम , बड़ी बहू ने किया कपड़े धुलाई .
उसके बाद साहब ने साहब काम निपटा और जेठ जी खाना खिलाया , जब जेठ जी काम के चले गये तो साहब फिर से आकषथ हो गये प्लान बनाने मैं .
प्लान सिंपल था , जेठ जी शादी नहीं कर सकते ,
लेकिन जेठ जी के ज़रूरात हुम्हे ही पूरी करनी होगी ऐसा रानी ने कहाँ ,
हन दीदी अपने ठीक कहाँ ऐसे हमारे ज़मीन जयदात हमारे पास ही रहेने , किया कहती हैं राधा तू ,
राधा , मैं किया बोलू आप लोग जो ठीक समझे वोही कीजिए . मैं साथ हू ,
रानी ने कहाँ हाँ , तू तो साथ रहेगी ही , तेरे पाती बिना तुझे खोले ही चले गये बाहर , अब तुझे तो खोना होगा , तेरी तो चुदाई की खुजली हुंसे ज़्यादा हैं ना .
रेबा ने कहाँ , देखो साहब लोग हमारे पटियाँ 6 महीने बाद घर आते हैं , इस बीच हमे भी अपने अपने कुछ ज़रूरात होते हैं , क्यों ना हम जेठ जी के मूसल से अपना ज़रूरात पूरा करले ,
ठीक हैं यहीं फ़ैसला हुवा , तो रोज आका क करके जेठ जी के साथ चुदाई करेंगे , ठीक हैं .
रानी बोली पहले मैं , रेबा ने भी बोली पहले मैं , राधा ने बोली पहले मैं , लेकिन बाद मैं फ़ैसला हुवा , के लॉटरी किया जाएगा कौन पहले जाएगा च्छुदाई करने ,
किया कहती हैं छोटी तू ,
मैं किया कहूँ , लेकिन अगर प्रेग्नेंट होगआई तो, हम अपने पातीयो से किया कहेंगे .
उसकी चिंता तू मॅट कर डियर , मैं हू ना रेबा ने कहाँ , ऐसा चल चलूँगा , साहब ठीक होजएगा देखना .
ठीक कहाँ अपने , अगर इतना बड़ा लंड घर मैं हैं तो बाहर क्यों जाए चुदाई करवाने , और ख़तरा भी हैं इस्मैन .घर का चीज़ घर मैं ही रहेगा .
लेकिन एक और बात , ये बात किसिके मुँह से नहीं निकल ना चाहिए अपने पातीयों से चुदाई करते समय .
साहब लोगो ने ठीक किया , काब किया करना हैं , रात मैं साहब लोग अपने जेठ जी पास जाएँगे और उनही से लॉटरी कर वाएँगे .
साआब लोग खुश थे क्यों की बोहुत दीनो बाद उनकी चुत मैं कोई लंड टक्कर मरेगा , लेकिन सब दुवा कर रहे हैं के उनका नंबर पहले लगे .
जेठ जी नहाने के लिए राधा से पानी माँगने लगे , तो राधा ने थोड़ा रुकने को कहाँ , थोड़ी दे बाद राधा ने जेठ जी को साद पे बुलाया क्यों की जेठ जी हुमेशा खुले हवा मैं नहाते थे .
जब जेठ जी नहन रहे थे राधा चुपके चुपके उन्हे देखने लगे , थोड़ी देर बाद जब जेठ जी कपड़े बदल ने लगे तो राधा क ओक झलक मिल मूसलधर लंड के जो सोते हुवे भी 9 इंच के आसपास्स दिख रहे थे .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *