मेरी नौकरानी डॉली की चुदाई

मेरी नौकरानी डॉली की चुदाई – Part-1

नमस्ते दोस्तों. ये मेरी कहानी लिखने की पहली कोशिश है. अगर आपको अछी लगे तो अपना प्यार ज़रूर दे और नीचे कॉमेंट बी करें. आपकी बातें सुनकर ही मुझे इस कहानी को आगे बड़ाने का होसला मिलेगा. धन्यवाद.

मेरा नाम मजनू है और मेरी उमर 26 साल है. में अपने मम्मी पापा के साथ अकेला रहता हूँ. मेने आज तक किसी लड़की को चोदा नए था. और मेरे हवस की चाहत बदती ही जा रही थी. मुझे ड्ऱ लगने लगा था कही मैं कोई ग़लत कम ना कर बैठू. मेरे घर सुबह सुबह डॉली कम करने आती है. डॉली का फिगर किसी हेरोयिन से कम नए था. वो घर की सफाई कराती, फिर कपड़े धोती और आखड़ी में बर्तन धोती. में उस टाइम सोया रहता हूँ, पर जब वो मेरा कमरा साज़ करने आती तो मेरी नींद खुल जाती पर में आखें नए खोलता. में उसे चुप चुप के देखता रहता, जब भी वो झुक के ज़मीन पोचेटी तो उसके ब्लाउस के नीचे उसका स्तन दिखाई देता. ये देख के मेरा सोया हुआ लंड तुरंत जाग जाता, मानो शरीर का सारा खून एक साथ मेरे लंड की तरफ भागने लगा. में कैसे बी करके अपना खड़ा लंड छुपा लेता, पर मेरे मॅन में बस एक ही बात चत्ली रहती: की काश ये मेरे खड़े लंड तो चूस के उसे वापस सुला दे. उसके जाने के बाद में रोज़ बाथरूम में उसके नाम का मूठ मराता.

मम्मी पापा मेरी बहें से मिलने कुछ दिन के लिए बाहर जाने वाले थे, यानी में घर पे बुल्कुल अकेला. तरह तरह के गंदे ख़याल आने लगे की में ये करूँगा या वो करूँगा. पर एक बात तो पक्की थी की इस बीच में डॉली के मुझे ज़रूर लूँगा.

वो दिन आ गया जब मम्मी पापा को बाहर जाना था. में सुबह 5बजे उन्हे एरपोर्ट छोड़ने गया. वाप़ड़ लौट के में वापस सो गया. अब में अपने घर का शेयर था. कुछ देर बाद दूरबेल ने मेरी नींद खोल दी. में गाते खोलने गया और देखा की डॉली कम करने आई है. गाते के के होल से उसको देखा तो मेरा लंड खड़ा हो गया. मेने कैसे बी करके अपने लंड को छुपाया और गाते खोल के उसको अंदर आने दिया. उसने आज ब्राउन रंग की सारी पहन न्यू एअर थी, और उसके साथ ब्राउन ब्लाउस जो काफ़ी टाइट था, उसका स्तन सॉफ सॉफ दिखाई दे रहा था. मेने कोशिश की की में उसकी छठी को देखता हुआ पड़का ना जौ. वो कपने ढोने बाल्कनी की तरफ जाने लगी, और उसकी गान्ड को देखते ही में पागल हो गया. मेरे अंदर का शेयर जाग रहा था, मेरा बहुत मॅन किया की में डॉली को तुरंत झपट लॅंड और अपनी हवस मिटा डून. पर में कोई बी ग़लत कदम उतने से खुद को रोका और अपने कमरे में वापस सोने चला गया. में लेता हुआ उसका इंतेज़ार कराता रहा, की कब वो आए और में उसके शरीर को अछी तरह देखूं. थोड़ी देर में वो कर्मा सॉफ करने घुसी. धीरे धीरे सॉफ करने लगी और में उसके तन को देखता रहा. अचानक उसका पल्लू गिर गया, पहली बार मेने उसकी छठी को इतने अच्छे से देखा. डॉली का ब्लाउस इतना टाइट था मानो अबी वो फॅट जाएगा और उसके स्तन बाहर आ जाएँगे. मेरा लंड तो पूरी तरह पागल हो गया था, ऐसा लग रहा था बिना हिलाए ही माल निकल जाएगा. उसने अपना पल्लू ठीक किया और मेरी तरफ देखा, पर मेने अपनी आखें पहले ही बंद कर ली थी. वो वापस ज़मीन सॉफ करने लगी. मेरे दिमाग़ में एक शैठानी ख़याल आया, में अपने बिस्तर पर सीधा लेट गया. मुझे पता था की मेरा लंड खड़ा हुआ है, फिर बी मेने अपने ड्ऱ को दबाया. में चाहता था की वो मेरे लंड की तरफ देखे.

में चुप के देखता रहा की उसकी नज़र मेरे लंड पे पड़ी की नही. जब वो मेरे बेड के पास पहोची तो उसने उपर देखा और मेरा खड़ा लंड उसको दिखाई दिया और तुरंत अपनी नज़र नीचे कर ली. में मॅन ही मॅन मुस्कराने लगा. सफाई के दौरान उसने मेरे लंड को 4-5 बार देखा होगा. मॅन तो कर रहा था की अबी अपना लंड निकालु और उसके मूह में घुसा दम और अपना माल ज़बरदस्ती घोतने पर मज़बूर करू. मुझे थोड़ा ड्ऱ बी लग रहा था की कही वो गुस्सा ना हो जाए और किसी को बता दे या मेरी मम्मी को शिकायत कर दे. पर अपनी हवस के सामने मुझे और कुछ नए समझ आ रहा था. वो सफाई करके बाहर चली गयी कपड़े ढोने. थोड़ी देर बाद में उठ कर मूह ढोने गया तो देखा की वो बाथरूम की फर्श पर बैठ कर कपड़े धो रही थी. उसने अपनी सारी उपर कर न्यू एअर थी ताकि वो भीज ना जाए. इस तरह मुझे उसकी झंघे देखने का बी मौका मिल गया. अब तो मेने पूरी तरह से अपना मॅन माना लिया था की इसको तो चोद के रहूँगा.

Back

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *