बीवी का नौवा महीना 1

रवि की शादी हुए 2 साल हो चुके थे. रीमा नाम है उसकी बीवी का. रवि का गारमेंट बनाना की फॅक्टरी है. उसके कारखाने मे बनाए हुए लॅडीस नाइटी बहुत पॉपुलर है. काफ़ी सेक्सी नाइटी बनता है. कभी कभी अपनी फॅक्टरी की बनी हुई नाइटी को और कांत छ्चांट कर अपनी बीवी रीमा के लिए घर ले कर आ जाता था. रीमा के गौरे और सुन्दर बदन पर यह नाइटी काफ़ी सेक्सी लगती थी. उसके बदन पर नाइटी से ज़्यादा उसका बदन झलकता था. रवि भी चाहता था की रीमा जब रात को रूम मे आए तो उसके मखमली बदन को देखनाए के लिए ज़्यादा तदफ़ना ना पड़े. उसकी गौरी चीटी चुचिया उसकी नाइटी से झलक पड़ती थी. उसे देखकर रवि का लंड हमेशा फड़फदता रहता था.

रीमा प्रेग्नेंट है और उसकी डेलाइवरी का टाइम आ चुका था. रीमा ने अपने पिहर फोन करके अपनी चचेरी बहन समीरा को बुलवाया था. समीरा अपनी एक और बहन लीना के साथ अपने जीजी के घर पर आती है. लीना को पैंटिंग करना पसंद था. वो अपनी पैंटिंग की प्रदर्शिनी लगवाना चाहती थी इसीलिए समीरा के साथ चली आई. लीना एक कुशल डॅन्सर भी थी. कॉलेज के फंक्षन मे जब वो डॅन्स कराती थी तो काई मनचलो की दिल की धड़कन बढ़ जया कराती थी.

समीरा जब पिच्छली बार एक साल पहले जब अपने जीजी के घर आई थी तब रीमा, रवि और समीरा काफ़ी हँसी मज़ाक कर के अपना टाइम पास कर लिया करते थे. समीरा अपने जीजू के काफ़ी करीब हो गयी थी. हालाँकि उनके सरिरिक संबंध नहीं बने थे लेकिन अपनी जीजी के सामने रवि से काफ़ी लिपट छिपात कर रहती थी. आलिंगन और चुंबन तक ही संबंध कायम हो पाए थे. और रीमा भी उसे बुरा नही मनती थी. कहती थी की जीजा और साली के बीच मे यह सब चलता है.

रीमा, समीरा और लीना आपस मे चचेरी बहाने थी. उनकी उमरा मे ज़्यादा फराक नही था. तीनो काफ़ी गौरी और सेक्सी बदन की मलिक थी. तीनो मे कौन ज़्यादा खूबसूरात है यह कहना काफ़ी मुश्किल था.

जब शाम को रवि घर आया तो उसने बेडरूम से काफ़ी आवाज़े और हँसने की आवाज़े सुनाई दी. वो समझ गया की समीरा आ गयी है. उसका मून हिचकोले खाने लगा. क्यों नही आख़िर उसकी सबसे सेक्सी साली जोत ही. वो जैसे ही रूम मे घुसा तो देखता है की उसकी साली एक नही दो-दो सालिया रीमा के साथ बेड पर बैठ कर उसके द्वारा लाई गयी निघठियों को देख रही है.

रवि सीधा समीरा के पीच्चे जाकर उसकी आँखों को अपने हाथों से बूँद कर अपने से चिपका लिया.

समीरा कहने लगी, “आरे क्या जीजू, बड़ी देर करदी घर आने मे. हम लोग तो आज ही आने वाले थे फिर भी देर से आए हो.”

रवि ने पलट-ते हुए जबाब दिया, “सॉरी माई डार्लिंग. थोड़ा ऑफीस मे काम आगेया था इसलिए लाते हो गयी. चलो अब माफ़ कर दो.”

समीरा ने रवि के हाथों को अपने हाथों मे लेते हुए कहा, “चलो माफ़ किया. लेकिन आपको भी हमारी जीजी का ध्यान रखना चाहिए. इस हाल मे ज़्यादा अकेले नही छोड़ना चाईए.”

तभी लीना बोल पड़ी, “हम भी है इस महफ़िल मे.”

रवि लीना की तरफ आँख मराते हुए बोला, “अब तुम्हारी जीजी को तो क्या, तुम दोनो को भी अकेले नही छोड़ूँगा.”

फिर रवि लीना को थोड़ा खिसका कर वहीं बेड पर ही अपने लिए जगह बना कर बोला, “क्या बात है. निघठीयो की प्रदर्शिनी लगा न्यू एअर है.”

समीरा ने एक नाइटी को उठाकर उसके बीच मे से झनखटे हुए बोली,” नही जीजू. हम सब तो यह देख रहे थे की इन निघठीयो को पहने के बाद बदन पर नाइटी दीखती है या हमारा बदन.”

लीना आँख मराते हुए बोली, “जीजू बड़ी सेक्सी नाइटी डिज़ाइन करते हो. पूरा बदन उघड़ कर रख देती है.”

रवि भी हाज़िर-जवाब था. तुरंत बोल पड़ा, “जाओ इने पहनकर आओ. हम भी देखें की हमारी नाइटी ज़्यादा सेक्सी है या तुम्हारा बदन.”

इसी तरह उनके बीच हँसी मज़ाक चल रहा था. तभी एक जोक्स के बीच रीमा को ज़्यादा ही हँसी चुत गयी. ज़्यादा हँसने से उसके दारद उतने लगा. सो फॉरून रीमा को ले कर वो तीनो हॉस्पिटल रवाना हो गये. और आधे घंटे के बाद नर्स ने एक लड़के के जानम लेने की बधाई उनको दी. रवि, समीरा और लीना तीनो ही लड़के के जानम पर काफ़ी खुश हुए. और एक दूसरे को बधाइयाँ दी. फिर ड्र. की इज़ाज़त ले कर अंदर जा कर रीमा को भी बधाई दी. रात को रुकने के नाम पर पहले तो ड्र. ने सॉफ माना कर दिया पर ज़्यादा ज़ोर देने पर ड्र. ने कहा, “चलो आज रात तो एक जान रुक सकता है लेकिन कल किसी को रुकने की इज़ाज़त नही दूँगी. आख़िर हमारी नूरसेन है जच्चा और बच्चा की देखभाल के लिए.”

एक रात के लिए हाँ भरने पर समीरा ने वहीं रुकने का फ़ैसला लिया. रवि समीरा को वहीं रुकते देख थोड़ा मायूष हुवा क्योंकि वो आज रात समीरा के साथ सेलेब्रेट करने का प्लान बना रहा था. लेकिन कुच्छ ना कहकर लीना को लेकर वापस घर की चल पड़ा. घर के नीचे लीना को छोड़ उस-से कहा की मैं आधे घंटे मे आता हूँ.

रवि आधे घंटे बाद एक विस्की की बॉटल और एक शमपने की बॉटल ले कर घर पर आ गया. ड्यूप्लिकेट चाबी से दरवाज़ा खोल लीना को आवाज़ दी. लीना उस समय बाथरूम मे थी. बाथरूम से वापस जवाब दिया, “जीजू बाथरूम मे नहा रही हूँ. पंधराह बीस मिनिट मे आती हूँ.”

रवि लीना को बाथरूम मे देख हॉल मे विस्की की बॉटल, आइस और ग्लास लेकर सोफा पर ही पसार गया. साथ ही व्क्द प्लेयर चालू कर एरॉटिक डॅन्स की एक सीडी चालू कर दी. सीडी मे इंग्लीश धुन के साथ काई लड़किया आधी से ज़्यादा नंगी हो कर नाच रही थी. रवि भी इंग्लीश धुन के साथ बैठा बैठा झूम रहा था. उसकी भूखी आँखे उन गौरी लड़कियों के बदन पर जमी हुई थी. उसका भूखा लंड भी उनको नंगा देख बैचेनी से अंदर ही अंदर मचल रहा था. बूखा तो होना ही था कारण की ड्र. ने रीमा के साथ सोने से फीच्छाले एक महीने से ना कर रखा था जो.

जब तक लीना बाथरूम से आई तब तक रवि दो पेग चढ़ा चक्का था. उसके आँखों मे विस्की का शरूर चढ़ने लग गया था. लीना ने अपनी जीजी रीमा की एक नाइटी निकल कर पहन ली. जब काँच से अपने बदन को देखा तो कुच्छ झेंप सी गयी. बदन पर नाइटी तो थी फिर भी पूरा बदन सॉफ दिखाई दे रहा था. काँच मे अपने बदन को गौर से देखने लगी. अपने दोनो हाथों से अपने निपल्स को दबाने लगी. रूम मे बैठकर चारो जब हँसी मज़ाक कर रहे थे तभी से ही उसकी चुत मे खलबली मची हुई थी. नों-वेग. जोक्स से पूरे बदन मे स्त्री और पूरेुष के संबंध की विवेचना चल रही थी. साथ मे जीजू का बारबार उसके गालों पर चुंबन उसको वासना की आग मे जला रहा था. मन ही मन जीजू के टेस्ट के अंकल देने लगी. फिर भी उसने उसके उपर एक झीना गाउन और पहन लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *