सेक्सी फिल्म दिखाकर करी चुदाई

हाय फ्रेंड्स, Antarvasna मेरा नाम विक्रम है मेरी उम्र 26 साल की है और मैं छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूँ. दोस्तों मैं पिछले 7-8 महीने से कामलीला डॉट कॉम का एक नियमित पाठक रहा हूँ और मैंने भी इस वेबसाइट पर काफ़ी सारी कहानियाँ पढ़ने के बाद यह विचार बनाया कि क्यों ना मैं भी अपनी सच्ची सेक्स कहानी स्टोरी आप सभी को बताऊँ। हाँ तो दोस्तों अब मैं आपका ज़्यादा समय ना लेते हुए सीधा मेरी कहानी पर आ जाता हूँ और एक ख़ास बात यह है कि, मैं जो कहानी आप सभी को बताने जा रहा हूँ यह घटना एकदम सच्ची तो है ही और इसके साथ ही यह घटना मेरे साथ सिर्फ़ 6 महीने पहले ही हुई है।

हाँ तो दोस्तों हुआ कुछ ऐसे कि, मैं एक दिन अपने कंप्यूटर पर बैठकर सेक्सी फिल्म देख रहा था कि, तभी कुछ देर में मेरे पापा आ गये थे और मैंने वह सब कुछ बन्द कर दिया था. और फिर मेरे पापा मुझसे बोले के चलो सबको आज कहीं घुमाकर लाते हैं. और फिर मैंने सोचा कि, अगर मैं गया तो मेरा सारा मज़ा बेकार हो जाएगा, इसलिए मैंने किसी बहाने से उनके साथ जाने से मना कर दिया. और फिर घर के सब लोग चले गये थे और मैं घर में एकदम अकेला रह गया था. और मैंने फिर से अपने कंप्यूटर पर सेक्सी फिल्म चालू कर दी थी. और फिर कुछ देर के बाद मेरी बहिन की एक सहेली हमारे घर पर मेरी बहिन से मिलने आ गई थी. और फिर उसने मुझसे पूछा कि, रश्मि कहाँ पर है? तो मैंने उसको बताया कि, घर के सभी लोग घूमने के लिये कहीं बाहर गये हैं. और फिर उसने मुझसे पूछा कि, तुम क्या कर रहे हो? तो फिर मैंने उसको कहा कि, मैं तो अपने कंप्यूटर पर बैठा था. तो फिर वह बोली कि, क्या मैं तुम्हारे कंप्यूटर पर अपना मैल चेक कर सकती हूँ? तो मैंने उसको हाँ कह दिया था. और फिर मैंने उसको कहा कि, तुम बैठो मैं ज़रा टॉयलेट जाकर आता हूँ. और फिर जब मैं वापस आया तो मैंने देखा कि, मैंने अपने कंप्यूटर पर वीडियो प्लेयर बन्द नहीं किया था और पूजा वह सब कुछ देख रही थी. और मैं भी उसको मेरे कमरे की खिड़की के बाहर से ही खड़ा होकर देखता रहा. उसका चेहरा कंप्यूटर की तरफ होने से उसने पीछे नहीं देखा कि, मैं वहाँ पर खड़ा हूँ. और वह सब कुछ बड़े मजे ले-लेकर देख रही थी और फिर कुछ ही देर में वह बहुत ही ज्यादा गरम हो चुकी थी और फिर उसने अपने बब्स को अपने कपड़ों के ऊपर से ही दबाना शुरू कर दिया था।

दोस्तों उस नज़ारे को देखकर तो मेरा भी लंड खड़ा हो चुका था और मैं तो मन ही मन यह पक्का फ़ैसला कर चुका था कि, हो ना हो यह तो आज मुझसे चुदकर ही जाएगी. और फिर मैं उसके थोड़ा और पास चला गया था और मैंने हल्की सी आवाज़ निकाली तो वह समझ गई थी कि, मैं आ रहा हूँ. तो फिर उसने मेरे कंप्यूटर का वीडियो प्लेयर बन्द कर दिया था. और फिर मैंने उससे पूछा कि, तुमने अपना मैल चेक कर लिया क्या? तो फिर वह मुझसे बोली कि, हाँ कर लिया. और फिर मैंने हिम्मत बाँधकर उससे कह ही दिया कि, पूजा अभी कुछ देर पहले तुम जो देख रही थी वह मैं भी पीछे खिड़की के पास से खड़ा होकर देख रहा था. तो वह मेरी बात को सुनकर एकदम शरमा गई थी और वह मुझसे कुछ भी नहीं बोली थी. दोस्तों अब तो मैं एकदम साफ़-साफ़ समझ गया था कि, मामला एकदम फिट हो गया है और फिर मैंने अपने कंप्यूटर पर दोबारा से वह सेक्सी फिल्म चालू कर दी थी. और फिर अब तो हम दोनों एकसाथ बैठकर वह सेक्सी फिल्म देखने लग गए थे. और फिर वह तो फिर से काफी गरम हो चुकी थी. तो फिर मैंने भी मौका देखकर उसको कह दिया कि, क्या बस ऐसे देखती ही रहोगी या फिर?

तो फिर वह भी मेरी बात को सुनकर अपने चेहरे पर हल्की सी मुस्कुराहट लाई. और फिर मैंने तभी बिना समय गवाएं उसकी जाँघ पर अपना हाथ रख दिया था. और फिर उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया था तो फिर मैं अपने हाथ को धीरे-धीरे उसकी जाँघों से ऊपर की तरफ लाने लगा और फिर मैंने उसके बब्स को दबाना शुरू किया और फिर मैं उसको किस करने लगा. और फिर मैंने उसका भी एक हाथ अपने लंड पर रख दिया था तो वह भी उसके साथ खेलने लग गई थी. और फिर करीब 5-7 मिनट तक हम दोनों ऐसे ही किस करते रहे. और फिर मैं उसको अपनी गोद में उठाकर अपने बेड पर ले आया था और फिर मैंने धीरे-धीरे उसके कपड़े उतारने शुरू कर दिए थे. पहले मैंने उसका सूट उतारा तो मुझको उसकी ब्रा दिखने लगी. और फिर मैंने उसकी ब्रा को भी उतार दिया था. दोस्तों उस समय उसके मुँह से अजीब-अजीब सी आवाज़ें निकलने लग गई थी मानो वह मुझसे कह रही हो कि, मेरी चूत की गरमी को जल्दी से ठण्डा करो. दोस्तों उसके गोरे-गोरे और बड़े-बड़े बब्स को देखकर मैं एकदम से दंग रह गया था. और फिर मैंने उसके बब्स को चाटना और चूमना शुरू कर दिया तो वह मुझसे बोली कि, पहले कपड़े तो उतार लो. और फिर मैंने उसकी सलवार का नाडा खोल दिया था और फिर मैंने उसकी सलवार भी उतार दी थी. दोस्तों उसने काले रंग की पैन्टी पहनी हुई थी. जो की उसके बदन पर कहर ढा रही थी और फिर मैंने उसको मेरे कपड़े उतारने को कहा तो उसने पहले मेरी पेन्ट और फिर अंडरवियर को भी उतार दिया था. और मैं अब केवल बनियान में ही था और बनियान मैंने खुद ही उतार दी थी और अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे. पहले तो मैंने उसको बेड पर लेटाकर उसकी दोनों टाँगों को फैलाकर उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया था तो वह मुझसे बोली कि, तुम यह क्या कर रहे हो? तो मैंने उसको कहा कि, मेरी जान असली मज़ा तो इसी में है. और फिर उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लग गई थी और वह मुझसे कहने लगी कि, खा जाओ फाड़ डालो मेरी चूत को. और फिर लगभग 10 मिनट तक उसकी चूत को चाटने के बाद उसकी चूत ने मेरे मुहँ पर ढेर सारा पानी छोड़ दिया था और उसका बदन एकदम अकड़ सा गया था।

और फिर मैंने अपना 6.5” का लम्बा तना हुआ लंड उसके हाथ में दे दिया और कहा कि, अब तुम भी इसको चूसो. और फिर उसने फटा-फट से मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया था और फिर वह उसको बड़े ही प्यार से चाटने लग गई थी. और फिर 5-7 मिनट के बाद मेरे लंड से हल्का-हल्का पानी निकलने लगा तो मैंने उसको कहा कि, इसे पी जाओ. तो वह मेरे लंड के पानी को पीकर बोली कि, यह तो खट्टा-खट्टा सा है. और फिर मैं उसके पैरों के पास गया और मैंने उसकी दोनों टाँगें हवा में फैला दी थी और फिर मैंने उसको कहा कि, अब तुम अपनी चूत के छेद को खोलो. तो फिर उसने अपने दोनों हाथों से फैलाकर अपनी चूत के छेद को और भी चौड़ा कर दिया था. और फिर मैंने अपना लंड जैसे ही उसकी चूत पर रखा तो उसके मुँह से आहहह… की एक आवाज़ निकली. और फिर मैंने जोर से एक झटका दिया और मेरा आधा लंड उसकी चूत में जाकर अटक गया था तो वह एकदम से चिल्ला पड़ी और बोली कि, इसको बाहर निकालो प्लीज़ मुझको बहुत दर्द हो रहा है. लेकिन मैं कुछ देर तक हल्के-हल्के झटके देता रहा और उसकी चूत से खून भी निकलने लग गया था लेकिन उसने वह नहीं देखा था. और फिर जब वह भी पूरे जोश में आ गई थी तो मैंने 1 जोर का झटका और दिया तो अबकी बार मेरा पूरा 6.5″ का लंड उसकी चूत में घुस गया था और वह एकबार फिर से चिल्लाई. मगर मैंने इसबार उसके होठों पर अपने अपने होंठ रख दिए थे और मैंने उसको ज्यादा जोर से चिल्लाने नहीं दिया. और फिर कुछ देर वैसे ही रुकने के बाद वह और भी गरम हो गई थी और फिर उसके मुँह से एक आवाज़ निकली कि, और घुसाओ और ज़ोर से. तो फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड थोड़ी और बढ़ा दी थी. और अब तो वह भी अपने कूल्हों को उठा-उठाकर मेरा बराबर साथ देने लग गई थी. और उस जबरदस्त चुदाई से हमारी आवाज़ें निकल रही थी आहहह… म्‍म्ममार डाला तुम ने तो आज. उसकी चूत का पूरा छेद मैंने फाड़ डाला था. और फिर करीब आधे घंटे की उस जबरदस्त चुदाई के बाद उसकी चूत से ढेर सारा पानी निकल गया था. मगर मैं उसको फिर भी 5-7 मिनट तक और भी चोदता रहा. और फिर मेरा भी पानी निकल गया था और मैंने अपना सारा लावा उसके मुँह में ही उगल दिया था. और फिर मैंने उसको अपना लंड चाटने को कहा. तो वह मुझसे बोली कि, अब चुद तो मैं गई ही हूँ, अब तुम मुझसे क्या चाहते हो? तो फिर मैंने उसको कहा कि, दोबारा से मेरे लंड को खड़ा करो. और फिर हम दोनों 69 की पोजीशन में हो गये थे. और फिर कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था और मैंने अब उसे घोड़ी बना दिया था और पीछे से उसकी गांड में 1 हल्का सा झटका दिया तो उसकी तो मानो जान ही निकल गई हो मगर मैं हटा नहीं. और फिर थोड़ी देर ऐसे ही रहा और फिर थोड़ी देर के बाद 1 ज़बरदस्त झटका दिया और उसका मुँह अपने हाथ से बन्द कर दिया था और उसकी हालत तो ऐसी हो गई थी मानो वह मरने ही वाली हो और मैं फिर भी ऐसे ही झटके मारता रहा. और फिर कुछ देर के बाद वह मज़े लेने लग गई थी और फिर करीब 10-15 मिनट की गांडफाड़ चुदाई के बाद मैंने अपना सारा जोश उसकी गांड में ही ठण्डा कर दिया था. और फिर मैं उसे किस करता रहा और फिर थोड़ी देर तक हम ऐसे ही लेटे रहे. और फिर उस दिन के बाद मैंने उसको चोदने का सिलसिला शुरू कर दिया था जो शायद अब उसकी शादी पर ही खत्म होगा।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!