महक की दुनिया 13

सोनू को भी लग रहा था antarvasna की उसका लंड उसने एक गर्म kamukta संकरी भट्टी में डाल दिया ….कुछ देर बाद जब उसे लगा … की सौम्या को अब दर्द नहीं है … तो उसने धीरे धीरे धक्के देने शुरू किये
अब सौम्या भी मजे ले कर उसे रिस्पॉंस दे रही थी ….
साथ साथ महक के होठो को चूम रही थी …. और उसकी चूत में ऊँगली कर रही थी

सोनू की स्पीड धीरे धीरे बढने लगी थी …..
इधर से सोनू का विकराल लंड धक्के दे रहा था….. उधर से महक उसके मुम्मो को मसल रही … थी …
ऐसे में सौम्या जल्द ही चीख चीख कर झड गयी …..
उसके झड़ने के दौरान सोनू ने अपनी स्पीड एकदम से धीमी कर दी थी ….
सौम्या के नार्मल हो जाने के बाद
सोनू ने सौम्या को पलटाया ….. अब सौम्या महक के गोद में लेटी थी
और सोनू उसके टांगो में आया और उसने अपना महाकाय लंड उस नाजुक चूत में पेल दिया …..
सौम्या को इस बार कम दर्द हुआ ….
सोनू ने खचा खच धक्के मरना शुरू किया ….
और साथ साथ महक के होठो का रसपान भी करने लगा ……

महक के चूत में फिर से सुरसुरी होने लगी थी …….
पर उसने सोचा …. की अभी सिर्फ सौम्या को मजा लेने देते है ….
थोड़ी देर बाद उसने किस तोड़ी … और सौम्या के निचे से निकल कर खड़ी हो गयी ….
इस दौरान सोनू का लंड भी सौम्या की चूत से निकल गया था ….
महक ने उन दोनों को कहा ….
थोड़ी देर रुक जाओ ……
और उसने उन दोनो को बेड से थोडा परे खीचा …..
सोनू और सौम्या ….. उसके तरफ असंजस से देखने लगे
महक ने पलंग की चादर थोड़ी … ठीक की …..
और थोड़ी गुलाब की पंखुड़िया तोड़ कर …. उस बेड पर फैला दी …..
वो दोनों की तरफ मुद के बोली ……
“ आज आप दोनों का …. खुल के चुदाई करने का ये … पहला मौका है …..तो
इसे सुहाग रात के जैसे सेलिब्रेट करो ….
और वो पलट के बाथरूम में घुस गयी ….. अपने आप को ठंडा करने ….
इधर सोनू ने फिर से सौम्या को बेड पर पर उल्टा लिटाया ….
और उसे पिछेसे खड़े खड़े ….धका धक पेलने लगा ….
सौम्या उसकी और पलट कर देखती सिसकिय ले रही थी
“स्सस्सऽऽस्सऽऽ ….आऽऽऽऽहा …. ऐसेऽऽहीऽऽ …. चोऽऽदो …. मेरे सोऽऽनू…राऽऽज्जा ऽऽ…..

सोनू भी पुर रंग में आ गया था….
वो भी बद्बद्दने लगा ……
“लेऽऽ….. औरऽऽ ले मेरी ऽऽ जान…….. आऽऽहा…… बहोत सेऽऽक्सी है … रे तू सौऽऽम्या दीऽऽदी….
दोनों खुल के … एक दुसरे की आँखों में आँखे डाल … चुदाई में मशगुल थे ……
कुछ देर बाद दोनों एक साथ झड गए ……
और सोनू सौम्या को अपने सीने से चिपका कर ….. बिस्तर पर पसर गया ….
कुछ देर बाद जब …. महक बाथरूम से वापस आयी …….
तो उसने देखा … की … वो दोनो एक दुसरे से चिपके …. सो रहे थे ….
महक उन्हें बड़े अनुराग पूर्ण नजरो से देख रही थी …. की उसे अपने फ़ोन की आवाज आयी …..
उसने फ़ोन ढूंढा … और देखा … उसपे मामाजी की कॉल आ रही थी महक ने कॉल पिक की …
महक: हैलो मामाजी …..
मामाजी: कहा हो महक बेटी ……
महक: जी मैं सौम्या … के हॉस्टल आयी थी …
मामाजी: वहा किस लिए …….
महक: जी … मामाजी ….. वो …. सौम्या ने सोनू को बुलाया था ….
मामाजी: सोनू …. अरे हां …. याद आया …. ये वही है ना …. जिसे तुम तीनो …..
महक: हा मामाजी वो ही सोनू …..
फिर महक ने मामाजी को पूरी बात बताई ……
मामाजी ने कहा : चलो ये भी ठीक ही हुआ ….. मेरा थोडा भार हलका होगया …..
महक: तो क्या …. हम आपको भार लगते है ….. मामाजी …
मामाजी: अरे नहीं बेटे …. मेरा मतलब वैसे नहीं था …. जरा समझो मेरी जान ….. वो मैंने इसलिए बोला … की एक से भले दो ….
महक: हा …. मामाजी हमने भी तो उसे इसीलिए बुलाया ….
मामाजी: तो उसे रातको अपने घर ही ले आओ ना ….. बेटी …..
महक: घर …..अपने घर …. वो क्यों ….
मामाजी: तुम घर पे ही रही तो मुझे अच्छा लगेगा ….. मेरा भी चांस लग सकता है ना ….
महक हसने लगी …. उसने कहा … ओके …ओके … समझ गयी ….
मामाजी: और अगर ….. हा सका … तो …
महक: और क्या
मामाजी: अगर हो सका तो तेरी मामी को भी नये लंड का टेस्ट दिला देंगे …..
महक: याने …. सोनू …. वॉव मामाजी आप तो कमाल सोचते हो ….
मामाजी: है न मस्त आयडिया …..
महक: हा मामाजी … मजा आएगा….. मै …. सोनू को तय्यार करती हु ….. आप मामीजी को टटोलिये ….
मामाजी: हा … करता हु कुछ इस बारे में …….
महक: और एक खुश खबर है …मामाजी आप के लिए ……
मामाजी: क्या खबर है जल्दी बता ना …
महक: कल रिया और उसका भाई अपने यहाँ आने वाले है …. खाने के लिए …..
मामाजी: वाह … महक बेटा … ये तो बहोत ही बढ़िया खबर है ….
महक: आप …. रिया को खाना ….. और मैं और सौम्या उसके भाई का भोग लगाएंगी …
मामाजी: लेकिन क्या रिया के भाई को ये सब पता है …..
महक: हा मामाजी रिया बोल रही थी की उसने उसे सब कुछ बताया है ….
मामाजी: तो फिर मैं कल दुकान से छुट्टी करता हु ….दिन भर ऐश करेंगे …. हो सके तो सोनू को भी उसमे शामिल करते है ….
महक: ये भी मस्त आयडिया है …… देखती हु ….. इसबारे में भी
मामाजी: अच्छा बेटे अब रखता हु ….. लेकिन शाम को जल्दी आना ….. मेरा लंड अभी से मचल रहा है ….
महक: हा मामाजी ….. जल्दी आती हु …. बाय …. पुऽऽच्चऽऽच्चऽऽ
महक ने एक लम्बी किस दे कर फोन बंद किया …..
और सोनू और महक के साथ चिपक गयी …..
कुछ देर बाद …… तीनो …. जाग गए ……..
दोनों लडकिया सोनू को दोनों तरफ से चिपकी हुयी थी ……..
महक ने उसकी पीठ पर अपने मुम्मे घिसते घिसते …. उसे अपनी और रिया से शुरू हुयी कहानी बाताई …. उसकी पापा के साथ हुयी पहिली चुदाई के बारे में बताया …..
सौम्याने भी अपने पापा के साथ हुयी चुदाई का रसभरा वर्णन किया ….
और फिर दोनों ने मिल कर …. रिया और रोहन …. के बारे में भी बताया …….
उसके साथ साथ …. मामाजी और मामी वाली स्टोरी भी बताई ……

ये सब सुन कर …. सोनू दंग रहा गया ……
सोनू: सच में तुम तीनो … और तुम्हारी ये रंगीन दुनिया….. सब कुछ ….. बहोत ही ग्रेट है …..