ट्रेफिक वाली की चूत का चालान काटा

हाय फ्रेंडस Antarvasna मैं एक प्ले-बॉय हूँ मेरी उम्र 27 साल की है और मैं मुम्बई में रहता हूँ और यहीं पर काम भी करता हूँ. दोस्तों मैं अपने फुर्सत के समय में कामलीला डॉट कॉम वेबसाइट पर सेक्सी कहानियाँ पढ़ता रहता हूँ और मुझको इस वेबसाइट की कहानियाँ बहुत ही अच्छी लगती है. हाँ तो दोस्तों मेरे साथ तो बहुत सी सेक्सी घटनाएँ होती रहती है लेकिन कुछ समय पहले मेरे साथ एक ऐसी घटना हुई जिसको मैं आज आप सभी को कामलीला डॉट कॉम के सहयोग से बताने जा रहा हूँ. हाँ तो दोस्तों यह कहानी कुछ इस तरह से है।

दोस्तों यह कहानी एक महिला ट्रेफिक पुलिस की है. दोस्तों एक रात जब मैं एक क्लब के बाहर अपने कस्टमर का इन्तजार कर रहा था तो मैंने वहाँ पर देखा कि, उस क्लब में एक पार्टी चल रही है और वह एक लेडिज किटी पार्टी थी. और फिर मैं वहीँ पर खड़ा हो गया था. और फिर मैं वहाँ पर उनकी पार्टी खत्म होने का इन्तजार करने लग गया था और तभी घड़ी में 10 बज गए थे. और फिर एक कार बाहर आई और मुझको उसमें 3 आंटियाँ दिखाई पड़ी और वह सभी वहीँ पर गाड़ी खड़ी करके शराब पी रही थी. और फिर तो मैं भी समझ गया था कि, आज तो मुझको भी काफी अच्छे पैसे मिल सकते है. और फिर मैं उनकी गाड़ी के पास गया, और तभी उनमें से एक आंटी गाड़ी से बाहर आई और फिर वह मुझसे बोली कि, तुम कपड़ों से तो कॉल-बॉय लग रहे हो. और फिर उनके कहने से मैं भी समझ गया था कि वो जरूर मसाज करवाती होगी. और फिर मैंने उसको बताया कि, मैं अभी नया हूँ. और फिर वह मुझसे बोली कि, ठीक है चल बता कितना लेगा? तो मैंने भी उनको कहा कि आप तो बस मजे करो और बदले में आप जितना दोगी ले लूँगा।

और फिर तभी उन्होंने मुझको 5000 रूपये दिए और साथ में यह भी कहा कि अगर काम अच्छा करोगे तो और भी मिलेगा. और फिर तभी उन तीनों आंटियों ने मुझको अपने साथ में लिया और फिर वह मुझको अपनी कोठी पर ले गई थी. दोस्तों वह सब पूरी तरह से नशे में धुत्त थी, और फिर उन्होनें म्यूज़िक बजाया और फिर उन्होंने मेरे मुहँ पर एक कपड़ा बाँध दिया था. और फिर उन्होंने मुझको उनके साथ डान्स करने के लिए कहा. दोस्तों उनमें से एक नंगी भी थी और वह भी मेरे साथ डान्स कर रही थी. दोस्तों उस नंगी औरत ने जिसका नाम माला था उसने मेरा अंडरवियर उतार दिया था. और फिर वह यह देखकर हैरान थी कि, मेरा लंड कितना बड़ा है. दोस्तों मेरा लंड करीब 7.5” लम्बा और 3” मोटा है और फिर वह मेरी गांड को दबा रही थी. मालती और नीलम ने भी अपने-अपने कपड़े उतार दिए थे. दोस्तों वह तीनों ही दिखने में तो खूबसूरत थी पर वह थोड़ी मोटी भी थी अब माला ने मुझको सोफे पर बैठा दिया था और फिर वह मेरे मुहँ के सामने खड़ी हो गई थी, और फिर वह मुझसे अपनी चूत चटवा रही थी और तभी वह उल्टी हो गई और वह मुझसे अपनी गांड चटवाने लग गई थी. दोस्तों वह सब पागल सी हो गई थी और उन्होनें मुझको बेड पर लेटा दिया था और उन्होंने मेरे हाथ भी बाँध दिए थे. और तभी उनमें से नीलम बोली कि मैं सबसे पहले चुदवाऊँगी इससे। और फिर नीलम ने मेरा लंड चाटा और फिर वह 69 की पोजीशन में आ गई थी और फिर वह 10 मिनट तक मेरे लंड को चाटने और चूसने के बाद मेरे ऊपर आकर मेरे लंड को अपनी चूत में डालने लग गई थी और फिर वह मेरे ऊपर ही बैठ गई थी. और फिर नीलम पूरे ज़ोर से अपनी मोटी गांड को उठा-उठाकर मुझको चोद रही थी. और फिर 10 मिनट तक मुझको चोदने के बाद वह झड़ गई थी. और फिर वह मेरे ऊपर से उठ गई थी, पर मेरा लंड अब भी खड़ा था. और वह सब मुझको देखकर हँस भी रही थी. और फिर माला ने मुझको घोड़ा बनाकर बेड पर बाँध दिया था।

और फिर मालती मेरे नीचे आई और फिर उसने घोड़ी बनकर मेरा लंड अपनी चूत में ले लिया था. और फिर मेरा लंड तो पहले से ही खड़ा था तो मैंने एक ज़ोर का झटका दिया और मेरा लंड उसकी चूत में चला गया था. दोस्तों मैं उसको खूब जमकर चोद रहा था कि तभी नीलम एक सिगरेट जलाकर लाई और मुझको लगा कि, वह उस सिगरेट को मालती की गांड पर चिपकाएगी लेकिन वह तो मेरी गांड पर ही चढ़ गई थी नीलम ने एक सिगरेट जला रखी थी और उससे वह मेरी गांड और कमर को जला रही थी और मैं चीख रह था पर वह नहीं मानी थी और उधर माला ने अपनी गांड को मेरे मुहँ में घुसा दिया था और वह जोर-जोर से चिल्लाने लग गई थी और वह मुझसे कह रही थी कि, साले चाट मेरी गांड को. एक तरफ तो मैं उसकी गांड को चाट रहा था और दूसरी तरफ मालती की चूत को मार रहा था और पीछे से नीलम मेरी गांड मार रही थी. दोस्तों उन सबने मिलकर मुझको कई बार चोदा और बहुत तडपाया था. और फिर सुबह होने को थी तो नीलम मुझसे बोली कि, चल अब मैं तुझको बाहर छोड़ देती हूँ. और फिर वह मुझको अपनी गाड़ी में बैठाकर मैन रोड पर ले गई थी. सुबह के 5.30 बज रहे थे पर फिर भी बाहर थोड़ा बहुत अंधेरा था तो वह गाड़ी को एक सुनसान जगह पर रोककर वह गाड़ी के बोनट पर झुककर घोड़ी बन गई थी और फिर वह मुझसे बोली कि, चल अब तू मेरी चूत और गांड को चाट। और फिर मैं उसकी चूत और गांड को चाटने लगा और वह धीरे-धीरे सिसकियाँ लेने लगी थी. और फिर 5-7 मिनट के बाद वह मुझसे बोली कि, चल अब जल्दी से अपना लंड डाल दे मेरी चूत में जल्दी से. और फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुहँ पर रखकर उसकी चूत फाड़ दी थी. और फिर 30 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी गांड के ऊपर ही झड़ गया था. और फिर उसने मुझको 10000 रूपये और भी दिए थे और उस समय मैं और वह दोनों नंगे ही थे।

और तभी एक ट्रेफिक पुलिस की गाड़ी आई और उसने हमें पकड़ लिया था. और फिर उन्होंने उसको तो पैसे लेकर छोड़ दिया था और वह जाने लग गई थी और मुझको पकड़ लिया था. दोस्तों जिसने मुझको पकड़ा वह एक लेडी ट्रेफिक पुलिस वाली थी. उसने हवलदार को वहाँ से जाने को कहा तो मैं डर गया था. और फिर वह मुझसे बोली कि, बहुत दम है तेरे लंड में. तो मैंने उसको बोला कि, नहीं मैं तो बस रोजी-रोटी कमाता हूँ, मेरा लंड अभी भी खड़ा था तो उसपर उसकी नज़र पड़ी और फिर वह मुझसे बोली कि, चल अब तू मुझको भी चोद दे. दोस्तों उसके कहने से पहले तो मैं डर गया था. और फिर वह मुझको अपने हेड क्वॉर्टर ले गई और फिर वह वहाँ पर मुझको बाथरूम में ले गई थी. और फिर वह अपनी मोटी और काली चूत को खोलकर बोली कि, चल चाट साले और दिखा मुझको अपना दम. और फिर मैं थोड़ा सा डरते-डरते शुरू हो गया था. और फिर मैंने 10 मिनट तक उसकी चूत और गांड चाटने के बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया था जिससे वह जोर से चिल्लाई जैसे कि, उसकी गांड फट गई हो. और फिर मैंने उसके मुहँ को अपने हाथ से बन्द करके 20-25 मिनट उसकी चूत और गांड मारी और फिर उसने मेरे लंड को अपने मुहँ में लेकर उसका पूरा पानी पी लिया था. और उसके बाद उसने खुश होकर मुझको छोड़ दिया था. और फिर मैं अपने घर पर आ गया था।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!