भगवान करे किसी को ऐसी गर्लफ्रेंड

फ्रेंड्स, ई आम मनीष Antarvasna रीसेंट्ली मेरे साथ एक ऐसी घटना हुई है जिसे मैं आप सब से शेयर करना चाहूँगा. मैं अपने कॉलेज में थोड़ा सा पॉपुलर हूँ तो इसलिए लड़कियाँ मुझसे बात करना चाहती हैं. एक लड़की है जिसका नाम रुचिका है, वो बहुत ही मादरचोद लड़की है. मैंने उसको पटाया और चोदा भी. वो दिन हमारे क्लास के प्ले का था जब हम प्रेक्टिस कर रहे थे तो वो अचानक से आई लेकिन मैं उससे नहीं जनता था लेकिन वो मुझको 1 साल से ट्राइ कर रही थी. दिखने में माल तो नहीं है लेकिन काम चलौ है. हुआ यूउ की मैं प्रेक्टिस कर रहा था प्रीति के साथ, तो वो आई और प्रीति से बात करने लगी तो प्रेक्टिस में रुकावट आ गयी.

मैंने प्रीति को अपने तरफ खींचा और बोला बात कम कर, तभी शायद रंडी की जल गयी इसलिए आ कर मुझसे बात करने लगी और लाइन मरने लगी. उसके बाद मुझे भी उसकी गांड पसंद आ गयी इसलिए मैं भी उससे बात करने लगा था और हम रोज़ मिलते और बातें करते थे.

आफ्टर आ वीक, हमारे कॉलेज से सोशल साइन्स एग्ज़िबिशन के लिए जा रहे थे तो उसने डांस में पार्टिसिपेट किया था और वो मुझे भी ले जाना चाहती थी. जो बेंड बजाने वाला था वो नेशनल खेलने गया हुआ था इसलिए उसने म्यूज़िक सर को मेरा नाम सजेस्ट किया तो सर मान गये और मैं भी प्रेक्टिस करने लगा था. 3 डेज़ के बाद वो बंद वाला फिर से आ गया और मुझे भगा दिया तो मैंने भी कोई माइंड नहीं किया बल्कि चुप चाप चला गया. आफ्टर 30 मिनिट्स मुझे एक बहुत अच्छा ऑफर आया. मुझे भी एग्ज़िबिशन में जाने का चान्स मिल गया जिसके लिए मुझे जस्ट ऐक्टिंग करनी थी क्योंकि मैंने स्टेज पे अच्छा पर्फॉर्म किया था. हम 5 लोग एक स्किट में थे जिसमें रुचिका तो नहीं थी लेकिन वो डेली प्रेक्टिस देखने आया करती थी.

एक बार पता नहीं उसको क्या हुआ की उसने मुझे कमर पर ज़ोर से छुट्टी काटी, तभी मुझे ज़ोर का झटका धीरे से लगा. उसे झटके के बाद से मुझे उसको पेलने का मन करने लगा क्योंकि उसमें बहुत गर्मी थी जिसको मुझे ही ठंडा करना था. जब हम जा रहे थे तो बस में मैं उसके सीट के पीछे बैठ गया था और उससे बातें कर रहा था तो वो मेरे लंड के तरफ ही देख रही थी तो मैं समझ गया की उसको मेरा लंड ही चाहिए.

वो मुझे पूछ रही थी की मेरी कोई गर्लफ्रेंड है क्या? तो मैंने कहा अभी तक तो कोई नहीं है. मैंने उसको पूछा तेरा बाय्फ्रेंड कोन है? तो उसने बोला की अभी तक कोई ऐसा मिला नहीं जिससे उसको प्यार हो जाए. हम क्व वायु सीना पहुँच गये और अपने अपने रूम्स में चले गये. लेकिन उसको पता नहीं क्या चुल थी की वो बार बार बोय्ज के रूम आ जा रही थी, मैं समझ गया की ये मेरे चक्कर में फँस चुकी है.

रात हुई खाना बांटने लगा और वो सबसे पहले पहुँच गयी. मैं गया और जस्ट एक थाली खाया लेकिन वो 3 के नीचे खाने को तैयार ही नहीं थी, उसने मुझे रोती लाने को बोला तो मैंने मना कर दिया. पेट भरने के बाद मैंने फेसबुक ओपन किया तो कोई साला ऑनलाइन नहीं था. फिर जा कर मैं सो गया. सुबह हुई तो पता चला की हमने बोय्ज की बकेट इश्यू नहीं कराई है तो मैं गया और मेघा से बाल्टी माँग कर लाया और सारे लोग एक बाल्टी में ही नहा लिए. नहाने के बाद मैं हॅंडसम दिखने लगा और बाहर निकला तो देखा की वो बेंच पर बैठी थी और स्वाती को कहा मुझे बुलाने को, स्वाती आ कर बोली की रुचिका बुला रही है.

मैं गया तो वो बोली क्या कर रहा है? मैंने कहा की बैठा हूँ. उसके बाद मैं वहां से चला गया लेकिन वो मुझे ही देखती रही चाहे मैं कुछ भी करूं. फिर हम सब बहुत बिज़ी हो गये और ऐसे ही दिन निकल गया और हमारी बस आ गयी. मैंने सोचा की उसके साथ ही बैठ कर जाऊंगा लेकिन उसका प्लान कुछ और ही था, वो अपने बाप के साथ चली गयी थी. मैं ऐसे ही मुंह लटका कर रिटर्न आ गया.

वो 2 डेज़ तक कॉलेज नहीं आई और फिर 10 डेज़ का विंटर ब्रेक लग गया. मेरे पास उसका नंबर नहीं था नहीं उसके पास मेरा. उसने मेघा से मेरा नंबर बहुत माँगा लेकिन उससे मेरा नंबर नहीं मिला. महगा ने मुझसे पूछा की क्या मैं उसको तेरा नंबर दे दम? तो मैंने उसको हाँ बोल दिया और रुचिका को मेरा नंबर मिल गया, उसके बाद रात को उसने मुझे गुड नि8 लिख कर भेजा था. मैंने रिप्लाइ किया की मैं अभी नहीं सोऊंगा. उसने भी रिप्लाइ किया की मैं भी नहीं सोऊंगी. फिर मैं रात भर उसके बारे में सोचता रहा. 2 डेज़ बाद उसने शाम को मेसेज किया की क्या कर रहा है? मैंने रिप्लाइ दिया घूम रहा हूँ.

देन उसने पूछा की प्रीति तेरी गर्लफ्रेंड है ना? मैंने कहा की नहीं, तो उसने बोला की मुझे पता चला है. मैंने उसको वही पर प्रपोज़ मर दिया, वो खुश हो गयी और मेसेज में लव यू टू लिख कर भेजी. उसके बाद हम लोग बहुत ज्यादा क्लोज़ आ गये, कॉलेज में हम दोनों सब से चुप कर किस करते थे और मैं उसके बूब्स ज़ोर ज़ोर से प्रेस करता था. वो मुझे बहुत प्यार करती थी और मैं एक बार जो बोल दम वो जरूर करती थी. एक दिन मैं अपने दोस्त अनमोल के घर पर सोया हुआ था तो रात के 12 बजे उसका कॉल आया, मैंने रेसीएवे किया और पूछा की क्या हुआ? तो उसने कहा की मुझे नींद नहीं आ रही है, मैंने कहा की लेट जा नींद आ जाएगी. तभी भी उसको नींद नहीं आ रही थी.

मैंने उसको पूछा की मैं आ जाओ क्या? तो उसने कहा की इतनी रात में? मैंने कहा हाँ…… उसने मज़ाक में बोल दिया हाँ, अनमोल तो अपना जिगरी ही है. वो मुझे जाने की पूरी पर्मिशन दे दिया, मैं निकल गया. रुचिका से इधर उधर की बातें करता हुआ उसके घर के सामने पहुँच गया और उसको दरवाजा खोलने को बोला तो उसको लगा की मैं मज़ाक कर रहा हूँ लेकिन मैं रियली वहां पर पहुँच गया था. अंदर घुसते ही मैं उसको ज़ोर ज़ोर से स्मूच करने लगा और उसके बूब्स मसलने लगा.

वो मुझे रोक रही थी लेकिन मैंने एक नहीं सुनी उसकी और उसके ऊपर लेट कर आधे घंटे तक मजा लेने लगा. उसके बाद मैंने उसको बोला की अब मुझे सेक्स करना है तो तू अपने कपड़े उतार, वो बोलने लगी की अभी हम लोग सेक्स करने के लिए बहुत छोटे हैं. मैंने उसको सीधा बोला की प्यार करती है तो चोदने दे नहीं तो आज के बाद तेरा मुंह नहीं देखूँगा. वो डर गयी और पैंटी छोड कर सब कुछ उतार दी. मैंने भी सब कुछ उतार दिया था और अपना लंड उसके मुंह में डाल दिया था. वो चूस नहीं रही थी तो मुझे फोरक्ली उसको चूसना पड़ा. 15 मिनट चूसने के बाद वो रुक गयी और रोने लगी, बोली की तू बहुत गंदा है मुझे यह सब बिलकुल पसंद नहीं है. मैंने उसकी पैंटी उतरी और उसको लेता कर उसकी चुद में उंगली डाल कर हिलने लगा.

पहले वो रोक रही थी फिर थोड़ी देर के बाद उसको मजा आने लगा, जब उसकी चुद थोड़ी स्ट्रेच हो गयी तब मैंने अपना लंड उसकी चुद के ऊपर रखा और धीरे से अंदर डालने लगा. उसे रंडी में बहुत दाम है जो मेरा आधा लंड झेल गयी. लेकिन जब और थोड़ा गया तो ज़ोर ज़ोर से चीखने रोने लगी, मैंने उसके मुंह पे अपना मुंह रख कर बंद कर दिया और शॉट्स लगता गया. उसकी चुद से बहुत खून निकला और वो लगभग बेहोश ही हो गयी, 10 मिनट बाद उसको होश आया तो उसने खुद को साफ कर लिया और चड्डा को धो कर सूखने के लिए डाल दिया. उसके घर पर तो पता नहीं चला मगर उसकी आंटी को शक था.

जब मैं नेक्स्ट टाइम उसको चोदने गया तो उसकी आंटी उठ गयी और मैं पकड़ा गया. उसके बाप ने मुझे 4 रख के दिया और मेरे घर फोन कर के सब कुछ बता दिया. उसके बाद हम 3 मंत्स तक नहीं मिले थे, ज़ाक कॉलेज रे-ओपन हुआ तो वो मुझे गुड मर्न्ग बोलने आई लेकिन मैंने उससे बात नहीं की. वो गुस्सा हो गयी और डायरेक्ट पूछा की मुझसे मन भर गया ना? मैंने भी हाँ बोल दिया उसके बाद से 4 मंत्स हो गये हमने बात नहीं की है जब की वो मुझसे सिर्फ़ 2 मीटर्स की दूरी पर रहती है. अब तो उसको एक नया बाय्फ्रेंड भी मिल गया है जिसके साथ पता नहीं क्या- क्या करती है. वो बहुत हरामी निकली दोस्तों, जब वो गुस्सा हो जाती थी तो मैं उसको मानता था लेकिन एक बार मैं गुस्सा हो गया तो वो सीधा छोड कर ही चली गयी. भगवान करे किसी को ऐसी गर्लफ्रेंड ना मिले………………

मेरी चुदाकड़ गर्लफ्रेंड – भगवान करे किसी को ऐसी गर्लफ्रेंड ना मिले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *