मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड की पहेली चुदाई

मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड Antarvasna की पहेली चुदाई

उस टाइम की बात है जब मैंने 12त क्लास पास किया था. उस वक्त में 18 साल का था. उस टाइम में अपने मामा के घर पढ़ता था. सम्मर वाकेशन में अपने घर आयता. लड़की का नाम रानी था. उसकी उमर भी 18 साल थी. वो मेरी बारे पढ़ोस के दादाजी की पोते की लड़की थी. हमारे घर के बीच एक दीवार था. हमारा घर मिट्टी का था. लेकिन बीच में एक खिड़की थी.

हम दोनों एक ही क्लास में थे. फिर भी में उसके बारे में कुछ ऐसा बेसा नहीं सोचता था.उन दीनों मैंने चुपके से पहेली बार ब्लू फिल्म देखली थी. उसके बाद मेरा लंड हर बक्ट खड़ा रहता था. फिर में जब भी रानी को देखता तो उसे देखते ही कुछ कुछ होनेलागा.उसके बाद मैंने तंलिया के उसे पटाके चोदूंगा. धीरे धीरे में उसे सेक्स की बात बताता और वो भी मान लगाकर सुनती. फिर में उसके बॉडी पे हाथ मरता तो वो कुछ नहीं कहती.

लेकिन में डर के मारे उसे ई लॉव यू नहीं कहा पता था. क्यों की वो रिश्ते में मेरी भतीजी लगती थी, अगर उसने मना कर दिया तो हमारी दोस्ती भी टूट जाती. ऐसे 1 साल चलता रहा. फिर हम लोग सहे आ गये रहने लगे, लेकिन वो मुझे चिट्ठी लिखा कार्तिति. मुझे पता चल गायता की वो भी मुझे चाहती हे. छुट्टी में एक दिन में गाँव गया था. सेम को में उसके घर बैठ के टीवी देख रहता. हम दोनों एक ही खतिए पे बैठे थे, उसकी आंटी हमारे सामने एक चेयर पाए बैठी थी पीठ करके.

हर बार की तरह में उसके होठों को सहला रहता की उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी छाती पर रख दिया. फिर मैंने बिना कुछ सोहे दूसरे हाथ से उसकी चुचियों पर रहक दिया तो उसने मुस्कराया तो में कन्फर्म हो गया की वो भी मुझे छाती हे. फिर मैंने 1 घंटे तक उसकी चुचियों को दबाया. वो गर्म हो गयी. लेकिन कुछ देर बात उसका बड़ा भाई आ गया तो मैंने उसे कहा, कल बाकी का कम करेंगे और चला गया.

मुझे रात भर नींद नहीं आया सुबह की इंतजार में, उसी हालत भी बेसी थी.
फिर में 11 बेल उसके घर गया तो उसकी आंटी नहाने गायटी . उसकेसाथ कुछ बच्चे थे. उसने मुझे देख तभी उन बच्चों को भगा दिया. बस क्या था जैसे ही बचे चले गये हंदोनो एक दूसरे को बाहों में भर लिया काश के. मैंने उसके होठों को चूसने लगा और उसकी चुचियां दबेंे लगा. वो भी मस्त हो रही थी और मेरा साथ दे रही थी.

फिर मैंने उसके कपड़े उतार दिए . वो सिर्फ़ एक ब्लैक ब्रा और रेड कलर की पैंटी में खड़ी थी. उसने भी मेरा कपड़ा उतर दिया. फिर मैंने उसे उठाकर बेड पर सुला दिया और उसकी चुचियों को दबाने लगा. एक हाथ में उसके पैंटी में डाल दिया तो देखा की उसकी पैंटी पूरी गीली थी. फिर में उसकी चुत को सहलाना शुरू कर दिया तो वो ज़ोर 2 से सिसकियां निकालने लगी. उसके बाद मैंने उसका हाथ अपने उंदेर्बेार में डाल दिए तो वो मेरी लंड को धीरे से हिलने लगी.

मैंने उसकी ब्रा और पैंटी निकल दिया तो उसने भी मेरा उंदेर्बेार उतार दिया. हम दोनों बिलकुल नंगे हो गये. पहेली बार मैंने किसी लड़की को पूरा नंगा देखा. फिर मैंने उसकी चुचियों को चूसने लगा और एक उंगली उसकी चुत में डाल दी. जैसे ही मैंने उंगली डाली तो वो चीख उठी अहहाअ अहूऊ. मैंने उसे अपना लंड चूसने को कहा तो उसने मना कर दिया पर ज़ोर कने के बाद वो चूसने लगी.

पहे उसने मुंह में डाल और निकल दिया तो मैंने फिर से डाल दिया. इसे 2-3 बार हुआ फिर उसने पूरा का पूरा में 9″ का लंड अपने मुंह में डाल दिया और ज़ोर 2 से चूसने लगी जसे बर्फ का गोला चूसते हे.

हम दोनों 69 की पोज़िशन में आ गये मैंने भी उसकी चुत को कुत्ते की तरह चाटने लगा. उस टाइम ऐसा लग्रहता की मानो हम दोनों जन्नत में हे. फिर 5 मुनीते बाद उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया और मेरे मुंह में चलगाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *