आंटी की कामुकता

आंटी की कामुकता

हेलो दोस्तों Antarvasna मेरे नाम इशिका सिंग है और मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ और यही पर एक कॉलेज की स्टूडेंट हूँ. मेरे अंकल पंजाबी है और आंटी हिमाचल से है. दोस्तों यह मेरी पहली कहानी है और आप लोगों का ज्यादा समय खराब ना करते हुए मैं सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ. दोस्तों मेरी आंटी की उमर करीब 42 साल की है और फिर भी बहुत सेक्सी और हॉट है. वैसे आप लोग तो जानते है आर्मी ऑफिसर्स की वाइफ कैसे दिखती है और कितनी बन-तन कर रहती है. मेरी आंटी का फिगर 39-31-42 है और वो लंबी है जो की उनके जैसे बॉम्ब को बहुत सूट करता है. वो बहुत गोरी है और मोटी नहीं है.

दोस्तों मैं सेक्स के बारे मैं समझने लगी थी. मेरे अंकल आर्मी ऑफिसर है और ज्यादातर टाइम व्यस्त हे रहते है ओरमऊंमी घर पर बोर होती थी तो उन्होंने एक दिन अंकल को कहा की क्यों ना वो आर्मी कॉलेज के बच्चों को पढ़ने लगे? तो अंकल ने भी कहा की ठीक है… अगर वो चाहती है तो ठीक है… लेकिन मुझे यह अच्छा नहीं लगा…क्योंकि कौन चाहेगा की किसी की आंटी उसकी क्लास मैं पढ़ाए पर कॉलेज मैं बात करने के बाद वो कहने लगी की तुम बिलकुल भी चिंता मत करो मैं प्राइमरी के छोटे बच्चों को पढ़ौँगी. फिर मैं भी बहुत खुश हो गयी क्योंकि प्राइमरी बच्चों का बिल्डिंग अलग था और आंटी को वहां पर जॉब लेने मैं कोई दिक्कत नहीं हुई….

लेकिन अगले मंडे से वो हमारी क्लास टीचर बन गयी थी और हमें पढ़ती थी….मुझे बहुत दुख हुआ उनके ऐसा करने से क्योंकि अब मैयपने साथ बैठने वाले लड़के का लंड कैसे हिलती और चुस्ती…. क्योंकि आंटी मुझे लड़कों के साथ देखकर मुझसे नाराज़ हुआ करती थी. अभी मुझे लंड चूसने का चस्का नया नया हे लगा था और मैं यह बहुत मुझे से कर रही थी.

फिर एक दिन मैंने अपने उसे बॉय-फ़्रेंड को बताया की मैं उसके साथ नहीं बैठ सकती. तो वो भी मुझसे बिना कुछ कहे दौड़ हो गया और दूसरी लड़कियों पर ट्राइ मरने लगा. लेकिन सब ने उसे छी छी… गंदा कहकर उसे मना कर दिया और उन्मआई से एक ने आंटी से कंप्लेन कर दी. लेकिन आंटी ने कुछ नहीं किया तो मैं चकित रही गयी. वो लड़का जिसका नाम रोहन था… वो क्लास मैं हे मूठ मारा करता था और जब मैंने उसे-से इस बारे मैं पूछा तो उसने कहा तेरी आंटी को देखकर क्लास मैं मूठ मारता हूँ. फिर एक दिन आंटी ने उसे इस हालत मैं देख लिया जब उसका वीर्य निकालने हे वाला था. तो आंटी ने हम सभी से कहा की अच्छा तुम सब यह सवाल हाल करो और इस बीच जब सभी बच्चे सवाल हाल कर रहे थे… तो वो रोहन के पास गयी और उन्होंने रोहन को जल्दी से अपना लंड आंडरवेयर मैं डालते हुए देख लिया और उन्होंने उसे अपने ऑफिस मैं बुलाया. फिर मैं साइन्स की क्लास के टाइम पर बहुत डर गयी की कही यह आंटी को मेरे बारे मैं तो नहीं बता देगा और इसलिए बचने के लिए जब साइन्स की क्लास थी तब मैं क्लास से निकल कर आंटी के ऑफिस के पीछे पहुँची जो की थोड़ा सुनसान एरिया था और ऑफिस के पीछे बहुत छोटी-छोटी खिड़कियां थी.

फिर मैं आंटी के ऑफिस वाली खिड़की से अंदर देखने लगी और उसे साइड कोई नहीं आता था क्योंकि वहां पर बहुत से काटे वाली झाड़िया थी और मैं बहुत डर रही थी की पता नहीं क्या होगा? लेकिन आंटी ने रोहन को कहा की छोटे शैतान यहां पर आओ और यह बताओ क्या कर रहे थे? तो रोहन डर के मारे बोल नहीं पा रहा था. आंटी ने उसे समझाया की यह सब नॉर्मल है और अब तुम बारे हो रहे हो.. लेकिन तुम क्या सोचकर क्लास मैं मूठ मर रहे थे? क्लास मैं यह सब करना तो बिलकुल गलत है. रोहन आंटी के मुंह से यह सुनकर थोड़ा मस्त हो गया और उसने कहा की मैडम आपको देख कर मर रहा था.. सॉरी मैडम आगे से नहीं करूँगा. तो आंटी ने कहा की रोहन मुझे तुम्हारे माता-पिता को बताना पड़ेगा की तुम कॉलेज मैं क्या पढ़ रहे हो? तो रोहन डर के मारे सॉरी कहने लगा.

फिर आंटी उठकर दरवाजे के पास गयी और उन्होंने दरवाजा अंदर से लॉक कर दिया और रोहन को रोता देख आंटी हँसने लगी और कहने लगी की अच्छा तो फिर मुझे अपनी लुल्ली दिखा… अगर चाहते हो की तुम्हारे माता-पिता को कुछ भी ना बताऊं. तो रोहन पहले शरमाया.. फिर बोला मैडम यह लुल्ली नहीं यह लंड है. फिर आंटी ने कहा की वो तो देखते है अभी क्या है? और आंटी ने उस्कीबेल्ट पकड़ कर अपनी और खींचा और उसकी पेंट उतरी और कहने लगी सजा तो तुम्हें मिलेगी रोहन. फिर आंटी बोली रोहन तुम्हें मैं दिखती हूँ की मजा क्या होता है? और रोहन का लंड अब तक बाहर आ गया था और बहुत ज्यादा कड़क हो गया था और बहुत मोटा था. भले हे वो ज्यादा लंबा ना हो… आंटी ने उसके लंड को एक उंगली से पूरा सहलाया और फिर लंड पर पकड़ बनाकर और ज़ोर से पकड़ लिया.

फिर एक हाथ से रोहन की छोटी से गांड पकड़ कर दबाने लगी और दूसरे हाथ से उसका लंड जो की छोटा था और उसे हिलने लगी. रोहन आअहह उहह कर रहा था और आंटी ने उसका लंड जीभ से चाहता फिर अपनी जीभ से रोहन के सुपाडे को धीरे-धीरे से सहलाने लगी. रोहन ने अपने छोटद टाइट कर किए और आंटी के मुंह की तरफ लंड से झटका मारा… आंटी के होंठ पर लंड ने दवाब दिया. तो आंटी ने कहा की बड़ा बेताब हो रहा है रोहन. तुम्हारी यही तो सजा है की मैं तुम्हें बहुत तड़पौ. फिर आंटी ने लंड मुंह मैं ले लिया और चूसने लगी. आंटी कभी-कभी उसका लंड डाट से काट रही थी जिस-से वो ओउच.. आय्या.. आह.. कर रहा था और आंटी रोहन की गांड आर खरॉच रही थी.

यह सिलसिला करीब 10 मिनट तक चला और रोहन अब पूरे जोश मैं आ गया और आंटी के बाल पकड़ कर उनके मुंह मैं ज़ोर-ज़ोर से पूरे जोश के साथ धक्के मरने लगा और आंटी के मुंह को रोहन अब सजा दे रहा था. आंटी के बाल जो की छोटी मैं थे… अब खुल गये और रोहन ने आंटी के बाल घोड़े की पूछ की तरह पकड़ लिए और उसने आंटी के प्यारे से चेहरे को बहुत चोदा और फिर कुछ हे मिनट मैं रोहन ने गढ़ा वीर्य आंटी के मुंह मैं हे चोदा दिया और फिर आंटी ने अपने होंठ से बहते हुए वीर्य को होंठ से साफ करके चाट लिया और रोहन को पूछा की क्यों मजा आया? तो रोहन ने कहा की बहुत मजा आया मैडम आप दुनिया की बेस्ट टीचर हो… मुझे प्लीज़ हमेशा इसे हे साज़ा देते रहनओर फिर रोहन ने आंटी की गर्दन पर किस किया और वापिस क्लास जाने लगा और जाने से पहले आंटी ने उसे कहा की छुट्टी के बाद मेरे ऑफिस मैं आना और साज़ा चाहिए तो और उसकी गांड पर थप्पड़ मरते हुए उसे जाने को कहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *