दोस्त की बीवी की होटेल मे चुदाई – 2

फिर भाभी बोली की राहुल भैया इतना भी मत चड़ा दो. फिर मैं फट से उनके पास जाकर बैठकर बोला की भाभी यह सब सच है ओर मैं झूठ नहीं बोल रहा. तब भाभी बोली की यह तो आप है वरना उनको तो अपने काम से फुर्सत ही नहीं जो कभी मुझसे बात करे ओर अभी तो हमारी शादी को एक साल हुआ है. फिर मैं बोला की अनुज तो पागल है, भाभी अगर आप मेरी वाइफ होती तो मैं बस पुंछो मत.

भाभी समझ गयी ओर शरमाते हुए बोली की एक बात तो है, आपकी पत्नी आपसे बहुत खुश रहेगी ओर हमारी ऐसी केमिस्ट्री कहा तो अब वो मेरे ही बोल बोल रही थी ओर मैं समझ गया था की अब मेरा काम बन सकता है तो मैं बोला की क्यों भाभी यार अनुज भी तो मेरे जैसा ही है. फिर वो बोली की कहा है, मेरे लिए तो उनको टाइम ही नहीं है. फिर मैंने सोचा की यार यह मौका ठीक है ओर मैंने भाभी से बोला की अगर आप नाराज़ ना हो तो मुझे एक बात बोलना है? तो वो बोली की बोलो? तो मैंने फटाफट कहा की मैं आपसे प्यार करता हूँ ओर फिर भाभी के मुंह से तोते उड़ गये ओर वो मुझे घूरने लगी.

मैं बोला की यह बात आपसे कब से बोलनी थी, लेकिन आज बोला रहा हूँ प्लीज़ बुरा मना दिल मैं था जो बोल दिया तो तृप्ति कुछ नहीं बोली ओर फिर मैंने उनका हाथ अपने हाथों मैं ले लिया . बोला की जवाब का . है. फिर वो रुकी रही ओर कुछ नहीं बोली, लेकिन थोड़ी देर बाद उसने अपना दूसरा हाथ भी मेरे हाथों मैं रख दिया तो मैं समझ गया की अब मेरा काम बन गया. अब मैं स्माइल देता हुआ बोला धन्यवाद तो उसने स्माइल देते हुए मुंह फेयर लिया.

फिर मैं बोला की जानूं अब क्यों उधर देख रही हो ओर मैंने तृप्ति से बिलकुल चिपककर उसके गालों को किस किया तो वो मुझे घूरने लगी. फिर मैं बोला की ऐसे मत देखो यार तो वो बोली की तुम भी ना वो इतना ही बोल पाई ओर मैंने उसके सेक्सी से होठों पर होंठ रख दिए. तृप्ति इस अचानक हुए काम को समझ ना सकी, लेकिन एक मिनट मैं समझकर मेरा साथ देने लगी ओर मैं किस करते वक्त सोच रहा था की भगवान जो करता है अच्छे के लिए करता है ओर दोनों मस्त होकर किस कर रही थे. तभी दूर बेल बज गयी ओर हम दोनों फट से अलग हुए ओर तृप्ति अपने को ठीक करते हुए दरवाजा खोलने गयी ओर वापस आते समय उसके साथ अनुज की कज़िन थी, तब मेरा मूंड़ फिर से ऑफ हो गया. साली को भी अभी आना था ओर मैं वहां से निकल गया ओर मान मैं सोचा की साला आज दिन ही खराब है. फिर रात को जाबमाईन सोने झड़ रहा था, तब किसी के नंबर से मेसेज आया तो मैं समझ गया की वो तृप्ति का नंबर ही होगा. फिर मैंने भी मेसेज किया की यार अभी से गुड नाइट तो जवाब आया की हाँ यह टीवी देख रहे है. फिर मैंने कहा की ठीक है फोन करो तो जवाब आया की मैं कल करती हूँ.

फिर अगले दिन 10 बजे मेसेज आया तो मैंने भी जवाब दिया ओर बोला की क्या मैं घर पर आ सकता हूँ? तो वो बोली की नहीं बाबा, आज आंटी अंकल आ रहे है तो उसकी यह बात सुनकर मेरा मूंड़ ऑफ हो गया. मेरी केमिस्ट्री ही साली खराब है की वो दोनों भी दो दिन पहले ही आ गये ओर फिर उनको मैंने कोई मेसेज नहीं किया. फिर कुछ देर मैं उसका फोन आ गया ओर तृप्ति बोली की क्या हुआ इतनी देर हो गयी, तुमने कोई मेसेज नहीं किया?

मैंने झूठ बोला की मुझे कोई जरूरी काम था ओर मैंने उससे इधर उधर की बातें की, लेकिन मेरा मान उसको चोदने का था, लीकिन मैं क्या करता? मुझे वो मौका मिल भी नहीं रहा था, लेकिन मेरे सेक्स की इच्छा तो माधुरी पूरी कर दे, लेकिन उस वक्त भी मैं माधुरी को भी तृप्ति समझकर ही चोद रहा था. मुझे उसका तो जैसे नशा हो गया था, लेकिन हम दोनों का अफेयर चलता रहा ओर बस हुआ कुछ नहीं था. उस किस के अलावा यह सब 7 महीने तक चलता रहा.

फिर एक दिन मुझे अपनी पार्टी से मिलने बाहर जाना पड़ा. मैंने ऐसे ही तृप्ति से पूछा की यार तू चल रही है क्या तो उसने मना कर दिया. वैसे यह बात मैं भी जनता था की वो मना ही करेगी, लेकिन जिस दिन मुझे निकलना था, उस दिन अनुज का कॉल आया की मेरे साथ बाहर कोन चल रहा है? तो मैंने कहा की मैं अकेला कार से झड़ रहा हूँ ओर फिर मैंने पूछा की क्यों क्या हुआ कोई काम है क्या? (हम दोस्त लोग रोज रात को मिलते है तो उसे भी पता था की मैं बाहर झड़ रहा हूँ) तो अनुज बोला की हाँ तेरी भाभी को भी उसके कज़िन के घर जाना है.

मैं एकदम बहुत खुश भी हुआ ओर मान ही मान सोचने भी लगा की यार उसने मुझे तो बताया ही नहीं ओर मैंने अनुज से बोला की ठीक है, मैं 30 मिनट के बाद निकालने वाला हूँ तू भाभी को लेकर मेरे घर पर आ जा ओर जब अनुज तृप्ति को लेकर आया तो मैं क्या बोलूं? मेरी तो जान अटक गयी. वो क्या हॉट लग रही थी? अब हम कार से निकल गये ओर थोड़ी दूर जाकर मैंने गाड़ी रोकी ओर बोला की जान यह सब क्या है? तो वो हंसते हुए बोली की अब मैं भी तेरे साथ ही घूम लूँगी, मैं बड़ा खुश हुआ ओर बोला की सच?

वो बोली की हाँ ओर मैंने उसे हग किया ओर पूछा की यह कैसे किया तो वो बोली की वो मेरे फ़्रेंड से उनकी बात करवा दी ओर सारा प्लान सेट कर दिया ओर अब मैंने उसको कुछ बोलने नहीं दिया ओर किस करने लगा तो उसने मुझे हटा दिया ओर बोली की अब मैं तेरे साथ ही हूँ, पहले हम वहां पर चलते है. फिर मैं भी खुश था ओर ऐसे कार चली की हम जल्दी ही अपनी मंजिल पर पहुंच गये, लेकिन मुझे अभी भी इंतजार करना पड़ा, क्योंकि जैसे ही हमने होटल मैं चेक इन किया तो मेरे बॉस रोहन कपल थे ओर वो आ गये.

फिर मैंने तृप्ति को उनकी वाइफ से मिलवाया. फिर रोहन बोला की क्या हम अभी काम निपटा ले, खाने के साथ यह दोनों शॉपिंग कर लेगी ओर फिर हम लोग भी फ्री हो जाएँगे ओर हम अपनी सारी काम की बातें कर रही एत ओर तब तक हम दोनों को 12 बज चुके थे ओर हम दोनों को वाइफ के कॉल आने लगे थे, लेकिन वो तो मेरी गर्लफ्रेंड थी. तभी रोहन बोला की आपकी शादी को कितना टाइम हुआ है? तो मैंने 1 साल कहा. फिर वो बोला की तब तो ठीक है यार. मेरी शादी को तो 4 महीने ही हुए है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *