मम्मी की सहेली के साथ सेक्स किया

मम्मी की सहेली के साथ सेक्स किया
फ्रेंड्स मेरा नाम सूरज है ओर में महाराष्ट्र के जलगाओं सिटी में रहता हूँ आप लोगों के साथ ये मेरी पहली स्टोरी हे अच्छी लगे तो मुझे बता ना और किसी लड़की, आंटी और भाभी को इंटरेस्ट हो तो मुझे मैल करे प्लेज़ इस आइडी पे में आप को को पूरी तरह से सॅटिस्फाइ करूँगा ये वादा हे मेरा.

में अपने बारे में कुछ बता था हूँ मेरी आगे 22 हे हाइट 5.9 हे.

ये बात 2 साल पहले की हे अब आंटी के बारे में बता हूँ क्या लगती थी वो दोस्तों गोरी सी मस्त बड़ी गांड थी उसकी औनी का नाम संगीता आगे 41 और फिगर 38 34 40 बहुत ही सेक्सी औरत हैं गोरी और साफ स्किन लंड खड़ा हो जाता हैं अगर देख लो तो उनके पति 42 के आसपास होंगे उनका 1 ही लड़का था जो एंगग के 1 स्ट्रीट एअर में था ओर वो नासिक में रहता था.वो आंटी मेरी आंटी की फ़्रेंड थी.तो जाहिर सी बात है की वो अक्सर मेरे घर आती थी. तो में उन्हें देखा करता था.उनके बारे बूब्स देख के में तो पागल हो जाता था.ओर सोचता था की कब उन्हें चोद सुकून.ओर एक दी वो दिन आ गया.

एक दिन उन्हें उनके सिटी में जाना था “धुले” में ओर वहां जाने के लिए बस से जाना पड़ता था.क्योंकि उस सिटी में ट्रेन नहीं जाती थी.उन्हें उनके सिस्टर के शादी में जाना था.तो उन्होंने मुझे साथ आने के लिए कहा.में तो खुशिसे पागल ही हो गया की उनके साथ जाने का मौका मिलेगा.फिर उन्होंने मेरी आंटी से इजाज़त ले ली आंटी ने हां कह दिया.ओर हम जाने के लिए निकल पड़े.औनटु ने मस्त ग्रीन कलर की शादी पहनी हुई थी.गाँव जाना था तो आंटी बहुत अच्छे से साजू हुई थी.ओर हॉट लग रही थी.शादी भी काश के पहनी हुई थी.फिर हम बस स्टैंड पर गये.वहां बहुत भीड़ थी.फिर उन्होंने मुझे कहा की सूरज में जब काहु तब जल्दी से बस में चढ़ जाना.मैंने हां कहा.बस में बहुत भीड़ थी.तब सम्मर चालू था.पहले में बस में चढ़ा.फिर मेरे इचे आंटी चड्डी.वो मेरे एकदम सामने खड़ी थी.मेरा लंड उनके गांड को टच कर रहा था.ओर फिर बस चलने लगी.जैसे जैसे बस उछालती तब मेरा लंड उनके गांड पे घिस रहा था.मुझे मजा आ रहा था.पर डर भी लग रहा था.फ़ि मैंने हिम्मत करके लंड को उनके गांड के बीच में फंसाने लगा.

ओर वो एकदम कड़क हो गया था.ओर मुझे लगता है की उन्हें भी पता चल गया था की में अन जान भुज कर टच कर रहा हूँ.क्योंकि वो ही भी नहीं सकती थी.फिर मैंने उनके गांड को हेक से हाथ लगाया क्या सॉफ्ट थी यार.फिर आंटी ने कहा की हमें ऐसे ही ओर दो घंटे खड़े रहना पड़ेगा.ओर फिर मैंने देखा की वो आगे मुंह करके हंस रही थी.फिर वो बैग में से पानी की बोतल निकालने के लिए नीचे ज़ुकी क्यमस्त लग रहा था यार.ओर फिर कुछ देर बाद अगले स्टैंड पे दो लोगे उतार गये.हम उनके सीट पे जाकर बैठ गये.आंटी ऐसे बैठी थी की उनके बूब्स मुझे ब्लाउज में से दिख रहे थे.फिर मैंने कहा की आंटी आपके सिस्टर के यहां रूम तो है ना सोने के लिए.तो आंटी ने कहा की तुम चिंता मत करो में तुम्हारे लिए कमरा रखूँगी.ओर फिर ऐसा कह कर उन्होंने मेरे थाई पे हाथ रखा ओर स्माइल दी,मेरा मान कर रहा था की में भी रखू.पर हिम्मत नहीं हो पा रही थी.

उसके बाद बस से उतरे ओर फिर आंटी के सिस्टर के घर गये.उन्होंने हमारा स्वागत किया.रात को फिर खाना खाया ओर फिर में आंटी के बारे में सोचने लगा.वो बस में की बात के बारे में.फिर सोने टाइम हो गया .में ओर आंटी एक ही कमरे में सोने वाले थे.तब आंटी ने मुझे पूछा की तुम अकेले सौगे की साथ चाहिए.फिर में समाज गया की आंटी क्या चाहती है.फिर मैंने कहा की अकेले मुझे नींद नहीं आती.फिर आंटी ने कहा की अच्छा तो फिर घर पे जैसे सोते हो वैसे सो जाओ.फिर मैंने अपने कपड़े उतरे ओर सिर्फ़ आंडरवेयर ओर बनियान रहने दी आंटी ने बनियान भी निकल दी ओर कहा कियाब अच्छे लग रहे हो.ओर मेरे लूँगा पे हाथ रखते हुए कहा की बस तू मेरे उप्पर इसे बहुत घिस रहा था ये सुनकर में तो चौंक गया.ओर खुश भी हो गया.

फिर आंटी ने कहा की मेरे आने तक ये अच्छा कड़क हो जाना चाहिए.ओर तू पूरा नंगा चाहिए.फिर वो नीचे चली गई.ओर फिर मैंने अपना लंड पूरा टाइट कर लिया.ओर फिर वो आई तब मेरे मूंद को देख कर खुश हो गई.ओर मुंह में लेकर चूसने लगी.मुझे बहुत मजा आ रहा था.वो एकदम सेक्सी लग रही थी चूसते वक्त.फिर थोड़ी देर चूसने के बाद वो खड़ी हो गई.फिर मैंने कहा क्या हुआ आंटी ने कहा की पागल पूरा फावरा मेरे मुंह पे मरेगा क्या.ओर फॉर शादी उतेरने लगी.मैंने उन्हें पीछे से पकड़ लिया.ओर इनकी गांड पर अपन लंड रगड़ने लगा.ओर उनके नेक को किस करने लगा.फिर वो पूरी तरह से नंगी हो गई.फिर मैंने उनके रसीले होठों को जी भरके चूस लिया.

15 मिनट तक चूसने के बाद में उनके बारे गोरे बूब्स चूसने लगा..ओर काटने लगा.ओर उहह उहह ऐसे आवाज़ निकालने लगी.फिर मैंने उनकी चुत चाटना शुरू किया.वो उम्म उम्म ऐसे करने लघी.फ़ि वो मेरे उप्पर चढ़ गई ओर मेरे लंड को चुत में डाल दिया .ओर उप्पर नीचे होने लगी.ओर फिर कुछ देर बाद वो नीचे हो गई ओर फिर में उप्पर ओर फिर कुछ देर बाद हम डन झड़ गये.उस रात हमने 3बार सेक्स किया. ओर फिर 4 महीनों बाद उनके पति का मुंबई ट्रांसफर हो गया फिर हमारा सेक्स भी चुत गया.आपको मेरी कहानी कैसी लगी जरूर बताना.

मम्मी की सहेली के साथ सेक्स किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *