शिल्पा डार्लिंग सेक्सी का बदन

दोस्तों मेरा नाम अभिनव है और मैं बांद्रा में एक गवर्नमेंट बंगलों में रहता हूँ. मैं एक क्लास 2 ऑफिसर हूँ और अच्छे ख़ासे पैसे कमा लेता हूँ. मेरी वाइफ और दोनों बैठो को मैंने हरियाणा में ही रखा हुआ है क्योंकि मेरा तबादला हर दो साल में हो जाता है और उनकी स्टडीस खराब होती है. और मैं चुदाई के लिए अपने बंगलों में आनेवाली कंवालीयो को पता लेता हूँ. या यू कहे की मैं उन कंवालीयो को ही काम देता हूँ जो मुझे अपनी चुत देती है. आज जिस औरत की देसी चुदाई आप देख रहे हो उसका नाम शिल्पा है. वो मेरे माली उदय की वाइफ है. शिल्पा का बदन मस्त सेक्सी है और वो दिखने से ही एकदम चुदासी लगती है.

मैं पहले दिन से ही शिल्पा को लाइन दे रहा था. वैसे चुदाई के लिए तो घर में एक कामवाली आती थी जिसका नाम गौरी था. मैंने गौरी को भी कहा था की शिल्पा को पता दे मेरे लिए तो मैं तुझे कुछ पैसे दूँगा. और गौरी मेरी तारीफ के कसीदे शिल्पा के सामने पढ़ने लगी. शिल्पा की नज़र में मुझे कभी कभी शर्म लगती थी जिसकी वजह से मैं समझ गया की यह भी लंड ले लेगी अपना.

उदय को मैंने एक बाद पैसे दिए और कुछ पौडे लाने के लिए दूर सिटी एरिया में भेज दिया. पीछे मैं और शिल्पा ही रही गये. जब दोपहर को शिल्पा क्वार्टर में अकेली थी तो मैं वहां गया और मैंने देखा की शिल्पा नीचे चटाई पर लेती हुई थी. मुझे देख के वो खड़ी हो गई.

आइये साहब, वो बोली.

मैं उसके सेक्सी बदन को ऊपर से नीचे तक देखता रहा. वो शर्म रही थी. मैं उसके पास गया और उसका हाथ पकड़ लिया. उसने फट से अपना हाथ पीछे लिया और बोली, ये क्या कर रहे हो साहब?

मैंने कहा, कुछ नहीं शिल्पा, ऐसे ही मजे ले रहा हूँ थोड़ा.

वो बोली, साहब मेरा मर्द आ जाएगा.

मैंने उसके ब्लाउज के ऊपर से उसकी चूंचियो को मसलते हुए कहा, तेरा मर्द शाम से पहले नहीं आएगा डार्लिंग. और नखरे मत कर, एक बार लेट जा बिस्तर में पूरे 2000 दूँगा तुझे.

पैसे के बारे में सुनते ही शिल्पा की अकड़ कम सी हो गई. उसने अब विरोध करना बाँध कर दिया. मैंने उसके ब्लाउज के स्तनों खोल दिए और उसके चूंचो को मुंह में डाल के चूसने लगा. फिर मैंने उसके सलवार को पकड़ को नाडा खोल दिया. अब वो मेरे सामने नंगी थी. मैंने भी अपना लोड्‍ा निकल के उसके हाथ में पकड़ा दिया. और फिर हम दोनों की देसी चुदाई चालू हो गई. मैंने शिल्पा को अपना लंड चूसाया और फिर उसकी चुत भी छोड़ी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *