बरसात का मौसम और दोस्त की चुदाई

इस बार मैं जो आपको कहानी बताने जा रहा हूँ वो मेरी दोस्त पूजा के साथ सेक्स की है. वो बरसात का महीना था. हम एक ही ऑफिस में कम करते थे. उस दिन पूजा ने बाइक नहीं लाई थी, ऑफिस छूटने के बाद वो बस स्टॉप पे खड़ी बस का इंतजार कर रही थी. उस दिन उसने अफीशियल ड्रेस जो होता है शर्ट और स्कर्ट पहनी थी. स्कर्ट उसके घुटनों तक था. उसके लेग्स शेव्ड थे. काफी सेक्स लग रही थी. वैसे मेरी रूम और उसकी रूम दोनों अपोजिट डाइरेक्षन में थे, लेकिन मुझे उस दिन उसको चोद आने का मान किया. क्या करे काफी सेक्सी लग रही और दूसरा कोई उसे लिफ्ट दे उससे पहले मैंने लिफ्ट देने का सोच लिया और मैं बाइक लेकर उसके पास चला गया.

में:पूजा, आज बाइक नहीं चलो मैं भी तुम्हारे रूम की साइड ही जा रहा हूँ तुम्हें चोद देता हूँ.
पूजा: वाउ, थेन्क यू. आज ना मेरी बाइक पंक्चर हुई थी.
में. कोई बात नहीं, तुम्हें लिफ्ट देने का मुझे मौका तो मिला
पूजा: (हंसकर)अच्छा तो फिर मैं कल से बाइक ही नहीं लौंगी.

हम दोनों निकल गये. कुछ दूर जाते ही बारिश शुरू हो गयी, धीरे धीरे बारिश कुछ ज्यादा ही तेज हो गयी. रुकने के लिए कोई जगह नहीं हम वैसे ही भीगते हुए उसके रूम पे पहुँचे.

पूजा: चल आजा रूम पे बहुत तेज बारिश चल रही है. थोड़ी देर रुख जा कपे सुखले, चाय पी के बारिश रुकने इंतजार कर.
में; ठीक है

उसने अपने रूम खोला, उसकी सहेली रूम पर नहीं थी वो गाँव गयी थी हफ्ते भर के लिए और वो अकेली ही थी.

में; चल यार टावल दे कम से कम मेरा सर तो पोचलू.

पूजा अंदर जाकर चेंज करके आ गयी. उसने गाउन डाला था. मेरे पूरे कपड़े से पानी गिर रहा था, और ठंड भी लग रही थी. मैं वैसे ही कोने में दरवाजे के पास बैठा था. ये देखकर पूजा बोली”तुझे ठंड लग रही होगी एक कम कर तू टावल लपेट ले और कपड़े सूखने दे.”

मैंने कहा” नहीं तुम्हारे सामने नहीं:”
पूजा:आबे तू ठंड से मर जाएगा एक कम कर तू ये रज़ाई ोढ़ले .

में”: रज़ाई भी तो एक ही है. क्या हम दोनों इसमें घुसेंगे. तुझे भी ठंड लगा रही. तुम्हारे पास वैसे भी शर्ट होगा वो दे दे पहनेने के लिए.
पूजा : हां तो ठीक है. मैंने उसका शर्ट पहन लिया और टावल नीचे लपेट लिया.शर्ट काफी शॉर्ट फिर भी थोड़ी देर के लिए अच्छा था.
पूजाऔरgt;:अरे टावल भी तो गीला हो गया अब क्या करे.
में: तुम्हारी पेंट तो मुझे आने से रही, तो अब क्या कर सकते. हिया
पूजा.(विंक);) मेरी स्कर्ट पहनेगा? एलास्टिक की है फिट आजाएगी
में:;) क्यों नहीं आज तो मुझे भी खुला खुला रहना कैसे होता है देखने दे.

मैंने उसकी स्कर्ट पहनली एलास्टिक होने के बावजूद काफी टाइट हो गयी . मेरा लंड जो खड़ा तो वो स्कर्ट पे दिखाई दे रहा था. उठने में मेरी फोटो पूजा ने निकल दी. पूजा:कल ये फोटो फेसबुक पे मैं डालूंगी

में: मत कर लोग गलत सोचेंगे
पूजा: क्या गलत सोचेंगे,… मजा आएगा लोग तुम्हें लड़की के ड्रेस में देख के
में: देखले वैसे फोटो में ठीक से देख ले कुछ तो गड़ बाद है.. और मैंने उसे नीचे लंड के तरफ इशारा किया.
पूजा शर्मा गयी.. पूजा” कोई बात नहीं मैं क्रॉप कर दूँगी”

में: क्या क्रॉप करोगी
पूजा: फोटोमे से वो चीज़
में: कोन से वो चीज़
पूजा: चुप बैठ तुझे पता है
में: मुझे क्या पता है.. बताना कौनसी चीज़.
पूजा : साले तेरा लंड क्रॉप कर दूँगी.
में:प्लीज़ मत कर एक ही तो है.

पूजा: रियल में नहीं फोटो में करोगी.
में: थेन्क यू, मेरी जान तेरा अहसान रहेगा. ऐसे बातों में मेरा लंड कुछ ज्यादा ही करेंट मर रहा था. स्कर्ट फिट होने के वजह से दर्द हो रहा था.
में:पूजा तुम्हारी स्कर्ट पे दाग लग गया.
पूजा: तू बदतमीज़ है
में; हां हूँ क्या करे तेरे स्कर्ट के साथ सेक्स हो गया.
पूजा: बदतमीज़ मेरी स्कर्ट उतार उसे गंदा मत कर.

मैंने झट से स्कर्ट उतार दी और मेरा लंड खुली हवा में सांस लेने लगा. एक बार ज़दने के बाद भी काफी ताना हुआ था. पूजा को ये रिएक्शन अनएक्सपेक्टेड था. हमारे भिच नों वेग बातें नॉर्मल थी . लेकिन कभी फिज़िकल हुए नहीं. पूजा मेरा लंड देखते ही रही गयी. मैंने कहा ” पूजा कहा खो गयई”

पूजा मेरे पास आ गयी और मेरे लंड को हाथ में लिया और” आबे साले तेरा लंड कितना बड़ा है” ऐसा कहकर वो उसे चूसने लगी. काफी मजा आ रहा था. मैंने उसे उठाया और फ्रेंच किस करने लगाए . 15मीं किस करने के बाद मैंने उसके कपड़े उतार दिए. उसकी पुसी काफी नीट और क्लीन शेव्ड तीस. मैंने बोला “साली तू कितनी मास्टरबेट करती है. ”

पूजा बोली “दिन में दो बार सुबह नहाते वक्त और सोते वक्त. ”
में: किसको इमगने करती है..
पूजा: पहले तो हृतिक रोशन को लेकिन अबसे तुझे ही इमॅजिन करूँगी
में: इमॅजिन क्यों करोगी.. मेरे साथ रूम पे रहने चल रोज़ चोदूंगा.

उसके बूब्स दबाते दबाते उसकी पुस्सूय लीक करा रहा था. थोड़ी डिएर में हम 69 पोज़िशन में आ गये.. 30 मिनट के बाद में उसकी पिंक पुसी फाड़ने के लिए तैयार था.उसकी चुत पे लंड रख कर रगड़ रहा था. वो बोली क्यों तरसा रहा है, दलदे. तो मैंने एक ज़ोर्का झटका मारा और मेरा लंड उसकी पुसी फाड़ अंदर चला गया. उसने एक चीख मारी और सिसकियां लेने लगाई.. मैंने अपना बढ़ता बढ़ाया तो फक फक फक फक फक फक आवाज़ आने लगा… 1ओ मिनट में मैंने अपना पानी उसके चुत में चोद दिया और दोनों मिशनरी पोज़िशन में सो गये. सुबह उठ गया तो मैंने देखा वो अभी सो रही थी …मेरा लंड उसकी चुत में अभी भी था. फिर वो भी उठी और गुड मॉर्निंग किस किया 10 मिनट.

उसकी और मेरी सलाइवा ने एक दूसरे के मुंह में कुल्हा किया ब्रश करने के जरूरत ही नहीं. और उसी दिन मैंने उसका समान पैक कर दिया और उसे मैंने अपने रूम पे ले गया और 6 महीने तक लाइव इन में रहे. 6 महीने तक हम रोज़ दो बार चुदाई करते थे. एक नहाते वक्त साथ में और सोते वक्त. हमने कभी कपड़े नहीं पहने जब भी रूम पे आते थे तो. 6 महीने के बाद उसकी शादी के लिए उसे घर बुलाया गया और मैं दूसरी चुत ढूंढ़ने के लिए. तो दोस्तों कैसी लगी मेरी कहानी.

बरसात का मौसम और दोस्त की चुदाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *